गुरूग्राम: शहरी क्षेत्रों में जल शक्ति अभियान को प्रभावी ढंग से चलाने के निर्देश

अभियान दो चरणो मे चलाया जाएगा। पहला चरण 1 जुलाई से 15 सितंबर तक चलेगा जबकि दूसरा चरण 1 अक्टूबर से 30 नवंबर तक चलेगा

शहरी स्थानीय निकाय के प्रधान सचिव आनंद मोहन सरन ने आज शहरी क्षेत्रों में जल शक्ति अभियान को प्रभावी ढंग से चलाने के निर्देश दिए और रेन वाटर हारवेस्टिंग सिस्टम का सुचारू संचालन सुनिश्चित करने के लिए शहरी स्थानीय निकाय के अधिकारियों को कहा। 
वे आज वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से जल शक्ति अभियान की समीक्षा कर रहे थ। सरन ने कहा कि जल संचयन के मामले में आम जनता को जागरूक करते हुए पानी की बचत करने के लिए जल शक्ति अभियान शुरू किया गया है। यह अभियान दो चरणो मे चलाया जाएगा। पहला चरण 1 जुलाई से 15 सितंबर तक चलेगा जबकि दूसरा चरण 1 अक्टूबर से 30 नवंबर तक चलेगा। दोनो चरणों में लोगों की सहभागिता करवाते हुए ज्यादा से ज्यादा पानी की बचत उपाय करने हैं। उन्होंने कहा कि पानी का मामला इतना गंभीर है कि केन्द्र सरकार ने इसके लिए एक अलग मंत्रालय जल शक्ति मंत्रालय बना दिया है और प्रधानमंत्री द्वारा इस अभियान की शुरूआत की गई है। 
उन्होंने कहा कि जिला गुरूग्राम में पानी की रियायकलिंग के लिए किए जा रहे प्रयास सराहनीय है, बाकि जिलों को भी गुरूग्राम जिला से प्रेरणा लेनी चाहिए। सरन ने कहा कि गुरूग्राम जिला में पानी की रिसाइकिलिंग के लिए सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाए गए है जिसके माध्यम से पानी को रियूज किया जा रहा है। उन्होंने जल शक्ति अभियान को सफल बनाने के लिए जिला गुरूग्राम में की गई डिटेल्ड प्लानिंग की प्रशंसा की। 
रेन वाटर हारवेस्टिंग सिस्टम के बारे में सरन ने कहा कि अक्सर देखा गया है कि लोग घरों या इमारतों के आस पास रेन वाटर हारवेस्टिंग सिस्टम लगवा लेते हैं लेकिन उसका ठीक से रख-रखाव नही कर पाते। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार गुरूग्राम जिला में रेन वाटर हारवेस्टिंग सिस्टम की मेनटेंनेंस के लिए एजेंसी हायर की हुई है बाकि जिलों को भी इस प्रकार से एजेंसियांे को हायर करना चाहिए। श्री सरन ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग में जल शक्ति अभियान के तहत फोकस्ड एरिया के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारियों को इस अभियान को सफल बनाने के लिए लोगों को जल संरक्षण के प्रति जागरूक करें। 
गुरूग्राम जिला में वीडियो कान्फ्रेंसिंग में नगर निगम के अतिरिक्त निगमायुक्त मुनीष, अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा, जिला परिषद् के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डा. सतेन्द्र दूहन सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे। 

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter