भारत निर्वाचन आयोग की हिदायत अनुसार इस बार सेना में कार्यरत सर्विस वोटर्स को पोस्टल बैलेट पेपर इलैक्ट्राॅनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम (ईटीपीबीएस) से भेजे जाएंगे, जिसको लेकर जिला निर्वाचन अधिकारियों के साथ वीडियों काॅन्फें्रसिंग की गई। इस वीडियों काॅन्फे्रंस में बताया गया कि किस प्रकार ईटीपीबीएस के माध्यम से पोस्टल बैलेट पेपर भेजे जाने हैं।  वीडियों काॅन्फें्रस में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त अमित खत्री ने बताया कि गुरूग्राम जिला में सेना में कार्यरत सर्विस वोटर्स की संख्या 4964 है जिसमें सबसे ज्यादा 2701 सर्विस वोटर्स पटौदी विधानसभा क्षेत्र में हैं। इसी प्रकार इसी प्रकार, गुरूग्राम विधानसभा क्षेत्र में 414, सोहना में 1178 तथा बादशाहपुर विधानसभा क्षेत्र में 671 सर्विस वोटर्स हैं। इन सर्विस वोटर्स में 4720 पुरूष तथा 244 महिला वोटर शामिल हैं। सेना में कार्यरत पुरूष सैनिकों की पत्नियों तथा महिला कर्मचारियों को सर्विस वोटर्स में गिना जाता है। 

वीडियों काॅन्फें्रसिंग में बताया गया कि नामांकन वापिस लेने की तिथि 26 अपै्रल है। उसके बाद 27 अपै्रल को सायं 3 बजे से सर्विस वोटर्स के पोस्टल बैलेट पेपर ईटीपीबीएस प्रणाली से भेजने की प्रक्रिया शुरू की जा सकती है। संबंधित इलैक्टोरल पंजीयन अधिकारी (ईआरओ)  अपने-अपने विधानसभा क्षेत्र के सर्विस वोटर्स के पोस्टल बैलेट अपलोड करके रिटर्निंग अधिकारी के पास आॅनलाईन भेजेंगे, जहां से ये बैलेट पेपर युनिट के रिकाॅर्ड आॅफिसर के पास जाएंगे। वहां से फार्म 13ए, 13सी और 13बी भरकर सैनिक अपने अधिकृत अधिकारी की डिक्लेरेशन के साथ डाक द्वारा वापिस भेजेगे।  ये बैलेट पेपर मतगणना से पहले रिटर्निंग अधिकारी के कार्यालय में पहुंचेगे। इस बार इन फार्मों पर क्यू आर कोड भी लगाया गया है ताकि वोट की गोपनीयता भंग ना हो।  इस वीडियों काॅन्फें्रसिंग में उपायुक्त अमित खत्री के साथ जिला सैनिक बोर्ड के सचिव विंग कमांडर (सेवानिवृत) एन सी शर्मा तथा चुनाव तहसीलदार संतलाल भी उपस्थित थे। 

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here