जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा आज गुरूग्राम जिला के राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय जैकबपुरा में मंडलस्तरीय कानूनी साक्षरता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर विद्यार्थियों के लिए ‘कानूनी अधिकारों‘ विषय पर विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित की गई थी जिसमें गुरूग्राम के विद्यार्थियों ने पहला स्थान प्राप्त किया जबकि रेवाड़ी जिला दूसरे स्थान पर रहा। इस अवसर पर जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के सचिव एवं मुख्य न्यायायिक दंडाधिकारी नरेन्द्र सिंह ने अपने विचार रखते हुए कहा कि आज के वर्तमान युग में कानूनी अधिकारों की जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को उनके कानूनी अधिकारों की जानकारी देने के उद्देश्य से जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण द्वारा इस प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है।

उन्होंने कहा कि विद्यार्थी हमारे देश का भविष्य हैं, यदि विद्यार्थियों को कानूनी अधिकारों के बारे में जानकारी होगी तो वे आगे चलकर राष्ट्र निर्माण में अपना सहयोग दे सकते हैं। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि कानून किसी शिशु के जन्म से पूर्व तथा व्यक्ति के मरने तक भी उसके साथ रहता है। उन्होंने कार्यक्रम में शिक्षा के अधिकार अधिनियम के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने कहा कि बच्चे को समाज में शिक्षा पाने का कानूनी अधिकार है, लेकिन कई बार जानकारी के अभाव में वे अपने कानूनी अधिकारो का प्रयोग नही कर पाते। उन्होंने बताया कि समाज में भाई-बहन, माता-पिता सभी के लिए कानूनी अधिकार है जिसके बारे में जानकारी होना अत्यंत आवश्यक है। उन्होंने बताया कि कानूनी साक्षरता शिविरों के माध्यम से लोगों में कानूनी अधिकारों के प्रति जागरूक करने की मुहिम चलाइ जा रही है परिणामस्वरूप आज लोग पहले की अपेक्षा अपने कानूनी अधिकारों को लेकर जागरूक हैं। उन्होंने बताया कि बच्चों को कानूनी अधिकारों के बारे मे जागरूक करने के लिए जिला के 122 स्कूलों मे कानूनी साक्षरता क्लब चलाए जा रहे हैं।

यदि समाज में सभी वर्गों को अपने कानूनी अधिकारों की जानकारी होगी तो वे समय आने पर स्वयं के साथ साथ दूसरों का भी शोषण होने से बचाव कर सकते हैं। उन्होंने कार्यक्रम में पीड़ित मुआवजा योजना के बारे में भी विस्तार से बताया। आज आयोजित कार्यक्रम में 5 जिलों नामतः गुरूग्राम, पलवल, रेवाड़ी, फरीदाबाद व नूंह से आए विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। विद्यालय में स्लोगन राइटिंग, निबंध लेखन, कविता, वाद-विवाद प्रतियोगिता, नाटक, क्वीज व पेंटिंग प्रतियोगिताएं आयोजित की गई। कार्यक्रम में विजेता प्रतिभागियों को सिंह तथा जिला शिक्षा अधिकारी दिनेश शास्त्री ने प्रशंसा पत्र भेंट कर सम्मानित किया। 

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here