गुरूग्राम के उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अमित खत्री ने आज जिला के पटौदी क्षेत्र के संवेदनशील तथा अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। उन्होंने पटौदी विधानसभा क्षेत्र के सहायक रिटर्निंग अधिकारी एवं एसडीएम प्रदीप अहलावत को निर्देश दिए कि वे सभी मतदान केंद्रों पर उचित साईनेज, बिजली, पानी के प्रबंध सुनिश्चित करने के साथ-साथ देखें कि सभी मतदान केंद्र दिव्यांग हितैषी भी हैं। उपायुक्त ने आज मानेसर, बिलासपुर, भौड़ाकलां, नरहेड़ा, हेलीमंडी, खंडेवला, जमालपुर, कुकड़ौला, जनौला आदि स्थानों में बने मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया। पटौदी विधानसभा क्षेत्र में 8 गांवों में मतदान केंद्रों को अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की श्रेणी में रखा गया है जबकि 18 गांवों के मतदान केंद्रों को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। चुनाव में संवेदनशील तथा अति संवेदनशील मतदान केंद्रांे पर अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किया जाता है तथा सुरक्षा के प्रबंध कड़े रहते हैं। अति संवेदनशील की श्रेणी में गांव ताजनगर, खंडेवला, हेलीमंडी, भौड़ाकलां, नरहेड़ा, नानूकला, खोड़ तथा सिधरावली गांवों को रखा गया है और इन 8 गांवों में लगभग 45 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इसी प्रकार, पटौदी विधानसभा क्षेत्र के गांव मुसैदपुर, महचाना, ख्वासपुर, जमालपुर, जसत, शेरपुर, जनौला, नाहरपुर कासन, नखडौला, मानेसर, नैनवाल, सहरावन, कुकड़ौला, ग्वालियर ( पचगांव), लोकरी, बिलासपुर, भुरका तथा पथरेड़ी को संवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है। इन 18 गांवों केे 22 भवनों में 44 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।

पटौदी के एसडीएम प्रदीप अहलावत ने उपायुक्त को बताया कि पटौदी विधानसभा क्षेत्र में 110 गांव तथा हेलीमंडी व पटौदी की 2 नगरपालिकाएं आती हैं। उपायुक्त ने कहा कि चुनाव को लोकतंत्र का पर्व माना जाता है और अधिकारियों की यह जिम्मेदारी है कि हम सभी मिलकर टीम भावना से काम करें और स्वतंत्र, निष्पक्ष व शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न करवाएं। इसके लिए सभी आवश्यक प्रबंध अभी समय रहते पूरे किए जाने जरूरी हैं। उन्होंने विशेष रूप से मतदान केंद्रों पर पेयजल, रोशनी तथा शौचालय व दिव्यांगों के लिए रैम्प की सुविधा सुनिश्चित करने पर बल दिया। श्री खत्री ने चुनाव से जुड़े अधिकारियों से यह भी कहा कि वे लोगों को बताएं कि जिनके अभी तक भी वोट नहीं बने हैं वे नया वोट बनवाने के लिए 12 अपै्रल तक आवेदन कर सकते हैं। इसके बाद नए वोट नहीं बनेंगे। उन्होंने कहा कि इस बार चुनाव आयोग द्वारा कई नई पहल भी की गई हैं जिनके बारे में भी लोगों को जागरूक करने के लिए होर्डिंग, बैनर आदि स्वीप की गतिविधियां चलाएं। उदाहरण के तौर पर चुनाव आचार संहिता का उलंघन करने वालों पर सी विजिल नामक एैप के माध्यम से आम जनता भी नजर रखेगी और कहीं भी उलंघन पाए जाने पर उसकी फोटो या वीडियों बनाकर इस एैप पर डाल देगी।

ऐसा करते समय व्यक्ति के मोबाईल में जीपीएस आॅन रहना चाहिए। सी विजिल के माध्यम से मिलने वाली शिकायतों पर जल्द कार्यवाही भी होगी। उन्होंने यह भी बताया कि बताया कि जिला का कोई भी व्यक्ति दूरभाष नंबर 1950 पर फोन करके अपने वोट के बारे में पता कर सकता है। उपायुक्त के इस निरीक्षण में पटौदी के एसडीएम प्रदीप अहलावत, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी नरेंद्र सारवान, खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी जगराम मान, मानेसर के तहसीलदार प्रदीप देशवाल, पटौदी के तहसीलदार रविंद्र मलिक तथा फरूखनगर के तहसीलदार रणविजय सुलतानियां भी थे। 

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here