पटेल नगर कालोनी और मानव आवाज संस्था का एक विशाल प्रतिनिधिमण्डल ने लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सड़क) मंत्री राव नरबीर सिंह को एक ज्ञापन दिया और उनसे पटेल नगर कालोनी के घरों के ऊपर से गुजर रही हाई टेंशन बिजली की तारों को हटाने की गुहार लगाई। मंत्री ने आश्वासन दिया कि वे सभी तारें हटाने के लिए भरसक प्रयास करेगें।

मानव आवाज संस्था के संयोजक एडवोकेट अभय जैन और पटेल नगर निवासी बीर सिंह, करन सिंह, जसवंत यादव, अनिल यादव, राजेश शर्मा, बसन्ती देवी और सावित्री देवी ने बताया कि विद्युत प्रसारण निगम ने पटेल नगर निवासियों के साथ धोखा किया है, क्योंकि विद्युत प्रसारण निगम केवल एक 66 केवी लाइन (पावर हाऊस से सेक्टर-15 लाइन) को हटाने की बात कर रहा है जबकि वास्तव में दो अन्य 66 केवी लाइन (पावर हाऊस से ओल्ड मानेसर लाईन) एवं दूसरी (पावर हाऊस से रीको) पटेल नगर निवासियों के लिए ज्यादा घातक हैं और अधिकतर दुर्घटनाएं इन दोनों लाइनों के कारण होती है। इसलिए इन दोनों 66 केवी लाइनों की तारों को प्राथमिकता से हटाना अति आवश्यक है।

ज्ञात रहे गत वर्ष 21 जुलाई 2018 को मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इन तारों को हटाने के आदेश दिए। सितम्बर 2018 में सरकारी मंजूरी के बाद इसे कार्यान्वित करने के लिए गुरुग्राम नगर निगम ने 4 करोड़ 10 लाख रुपये का चैक हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम को दे दिया, लेकिन बिजली विभाग के ढुलमुल रवैये के कारण आज 6 महीने के बाद भी यह समस्या ज्यों की त्यों बनी हुई है।हरियाणा विद्युत प्रसारण निगम लिमिटेड के अधिकारी दावा कर रहे है कि पटेल नगर कालोनी से तीन 66 केवी की लाइनें (पावर हाऊस से सेक्टर-15 लाईन), (पावर हाऊस से ओल्ड मानेसर लाईन) एवं तीसरी (पावर हाऊस से रीको) गुजर रही है, लेकिन नगर निगम ने केवल एक लाइन (पावर हाऊस से सेक्टर-15 लाईन) को हटाने के लिए धन राशि 4 करोड़ 10 लाख रुपये जमा करवाये हैं। दो अन्य 66 केवी लाइनों – (पावर हाऊस से ओल्ड मानेसर लाईन) एवं दूसरी (पावर हाऊस से रीको) को हटाने के लिए नगर निगम से कोई धन प्राप्त नहीं हुआ है।

इस सबके मद्देनजर मानव आवाज संस्था और पटेल नगर निवासियों ने मंत्री नरबीर सिंह से अपील की है कि वे अधिकारियों को सख्त आदेश दें ताकि इस लम्बे समय से चली आ रही समस्या का शीघ्र निदान हो सके और पटेल नगर निवासियों को राहत मिल सके।

गुरुग्राम नगर निगम ने लगभग 25 वर्ष पूर्व पटेल नगर कालोनी को अधिकृत (एप्रूवड) किया था। एप्रूवड करने के बाद से ही पटेल नगर निवासी हाऊस टैक्स, पानी एवं सिवरेज टैक्स, स्ट्रीट लाईट टैक्स आदि अन्य प्रकार के नगर निगम टैक्स लगातार देते आ रहे है। सभी मकानों और प्लाॅटों की हरियाणा सरकार ने ही रजिस्ट्री की है और भारी मात्रा में स्टेम्प ड्यूटी भी चार्ज की है। इसलिए 20,000 आबादी वाली इतनी बड़ी कालोनी में सभी सुविधाएं देना और बिजली की हाई टेंशन तारों को घरों के ऊपर से हटवानें की जिम्मेदारी हरियाणा सरकार की हैं, लेकिन हाई टेंशन तारों का मामला लटक रहा है। इन तारों से हुए हादसों में अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है तथा आपके आदेश के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो पाया है।

इस समस्या के समाधान हेतु चन्दन गुप्ता, राकेश कुमार, राजेन्द्र, विधा, कमला देवी, सीता देवी, संतोष देवी, अर्चना देवी, विजयपाल सिंह, जय देवी, संदीप, तरुण, महेन्द्र सिंह, सतबीर सिंह, रामायण, संत बहादुर, मिथलेश, राम प्रकाश, सुमित्रा, किशमाला, मोम देवी, कर्मवीर, प्रताप सिंह, रविन्द्र, संतोष कुमार शर्मा, योगेश कुमार, अशोक गुप्ता, सोनू वर्मा, रंजन सिंह, राजीव शर्मा, प्रदीप, शत्रुघ्न, केशव गुप्ता, अजय, सुनीता, सुषमा, राजू ओर सुंदरी देवी आदि पटेल नगर कालोनी निवासी उपस्थित हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here