गुरूग्राम के उपायुक्त अमित खत्री ने आज स्वच्छ भारत ग्रामीण कार्यक्रम के तहत फरूखनगर ब्लाॅक के आठ गांवों में घर-घर से कचरा उठाने के अभियान की शुरूआत गांव बांसलाम्बी से की। इस अवसर पर उपायुक्त ने अपनी उपस्थिति में गांव बासलाम्बी में बनाए गए वेस्ट कलैक्शन सैंटर का उद्घाटन राजकीय विद्यालय की छात्राओं से करवाया।  इस अवसर पर उपायुक्त अमित खत्री ने उपस्थित ग्रामीणों से प्लास्टिक का प्रयोग न करके जूट व कपड़ो से बने थैलों का इस्तेमाल करने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि प्लास्टिक को गलने में लगभग 1,000 वर्षाें का समय लगता है जिससे पर्यावरण में प्रदूषण का स्तर लगातार बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि समय रहते यदि प्लास्टिक के प्रयोग को नही रोका गया तो आने वाली पीढ़ी के लिए बड़ा संकट उत्पन्न हो सकता है।

खत्री ने कहा कि प्लास्टिक से सीवरेज प्रणाली भी बाधित होती है। प्लास्टिक से बनी थैलियों व अन्य सामान से सीवरेज व नालियों में अवरोध उत्पन्न होता है, परिणामस्वरूप सीवरेज व नालियों का गंदा पानी सड़कों पर फैलता है जिससे बीमारियां फैलने का खतरा होता है।  उपायुक्त ने कहा कि प्र्यावरण में प्रदूषण को कम करने के लिए जनभागीदारी अत्यंत आवश्यक है। समाज में यदि प्रत्येक व्यक्ति यह ठान लें कि वह प्लास्टिक की थैलियों का इस्तेमाल नही करेगा तो पर्यावरण प्रदूषण की समस्या को काफी हद तक कम किया जा सकता हैं। उन्होंने उपस्थित ग्रामीणों से अपील करते हुए कहा कि वे अपने घरों में गीले और सूखे कचरे का अलग-अलग निस्तारण करें। गौरतलब है कि ठोस कचरा प्रबंधन के लिए हर गाँव मे कचरा शेड् बनाए गए हैं, जहाँ गीला और सूखा कचरा अलग करके गीले कचरे से खाद बनाई जायेगी।  इसमें वर्मि कंपोस्टिंग तकनीक का प्रयोग किया जाएगा। सूखे कचरे को 5  अलग अलग श्रेणी में बांट कर उन्हें रिसाइकल अर्थात  दोबारा प्रयोग में लाने के लिए प्रबंधन किया जायेगा। 

घर-घर से कूड़ा उठाने हेतु प्रत्येक  गांव में दो सफाई कर्मचारियों को पंचायत द्वारा नियुक्त किया गया है।  पंचायत को कचरा उठाने के लिए रिक्शा तथा जरूरी औजार भी मुहैया करवाए गए हैं । आज जिन 8 गांवों में इस अभियान की शुरूआत की गई उनमें गांव बासलांबी के अलावा, मोकलवास, धनवास, बिरहेरा, शेखूपुर माजरी, इकबालपुर, फरीदपुर, घोषगढ़ आदि शामिल हैं।

ग्रामीणों ने इस अवसर पर उपायुक्त के समक्ष समस्याएं भी रखी जिस पर उन्होंने  जल्द समाधान का आश्वासन दिया। कार्यक्रम में राजकीय माध्यमिक विद्यालय बासलाम्बी की छात्राओं द्वारा स्वागत गीत प्रस्तुत किया गया। इसके अलावा, स्कूली छात्र-छात्राओं ने ‘प्लास्टिक के दुष्प्रभावों‘ पर आधारित नाट्य प्रस्तुति भी दी जिसे उपायुक्त सहित समस्त ग्रामीणों ने खूब सराहा।  कार्यक्रम में गांव बासलांबी के सरपंच बीर सिंह ने भी अपने विचार रखे और कहा कि हमारा भारतदेश ऋषि मुनियों का देश है जिसमें स्वच्छता का विशेष महत्व है। स्वच्छता मानव जीवन के लिए ही नही बल्कि पशुओं के लिए भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि आज बढ़ते प्रदूषण के कारण कई  गंभीर बीमारियों ने पर्यावरण में पैर पसार लिए है और यदि समय रहते इस समस्या से नही निपटा गया तो भविष्य में इससे होने वाले दुष्प्रभावों की कल्पना भी नही की जा सकती। उन्होंने उपायुक्त का कार्यक्रम में पधारने के लिए आभार व्यक्त किया।   इस अवसर पर पटौदी के एसडीएम अशोक बंसल, मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी वैभव लिमेय, सरपंच बीर सिंह, राजेन्द्र नंबरदार, अधिकारी आजाद सिंह सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। 

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here