भारत स्काउट्स एण्ड गाईड्स के नेशनल चीफ कमीशनर डा. के के खण्डेलवाल ने कहा कि हरियाणा में ऐसा कोई स्कूल नही छोडे़गे जहां पर स्काउट्स की यूनिट ना हो। इसके लिए उन स्कूलों के एक अध्यापक को प्रशिक्षित किया जाएगा जहां पर अभी तक स्काउट्स की युनिट नहीं है।  डा. खण्डेलवाल आज गुरूग्राम के लोक निर्माण विश्रामगृह के सभागार में प्रदेशभर से स्काउट्स के डिस्ट्रिक्ट ओरगेनाईजिंग कमीशनरों (डीओसी), डिस्ट्रिक्ट टेªनिंग कमीशनरों ( डीटीसी), कब तथा बुलबुल की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने सभी डीओसी तथा डीटीसी को शपथ भी दिलाई कि वे प्रदेश में ऐसा कोई स्कूल नहीं छोड़ेगे जहां पर स्काउट्स की युनिट ना हो। एक युनिट में कम से कम 32 व्यक्ति होते हैं। विद्यालय में स्काउट्स युनिट बनाने के लिए वहां के एक अध्यापक को टेªनिंग दी जाएगी।

इसका उद्देश्य प्रदेश के ज्यादा से ज्यादा युवाओं और लोगों को स्काउटिंग आंदोलन से जोड़ना है क्योंकि यह आंदोलन युवक-युवतियों के चरित्र निर्माण तथा देश का अच्छा नागरिक बनाने की पाठशाला है। उन्होंने यह भी कहा कि स्काउट्स एण्ड गाईड्स में वर्तमान में युवक-युवतियों का अनुपात 60ः40 का है। इस वर्ष में इस जैंडर गैप को कम करने का प्रयास किया जाएगा।  उन्होंने बताया कि भारत में स्काउट्स की संख्या विश्व स्काउट्स की 8.5 प्रतिशत है और देश में 80 लाख स्काउट्स एण्ड गाईड्स हैं। डा. खण्डेलवाल ने बताया कि देश में लगभग 4.5 करोड़ लोग अपने जीवन में कभी न कभी स्काउटिंग आंदोलन से जुडे़ हैं। हरियाणा में 9 लाख 10 हजार बच्चे स्काउटिंग के विभिन्न स्टेजिज में टेªनिंग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि देश में स्काउटिंग आंदोलन के साथ जुडे़ व्यक्तियों की संख्या के मामले में महाराष्ट्र और राजस्थान के बाद सबसे ज्यादा संख्या हरियाणा की है। डा. खण्डेलवाल सहित सभी उपस्थितों ने संकल्प लिया कि ‘उम्मीद नहीं छोड़ेगे, आगे बढेगे और अपने लक्ष्य को प्राप्त करेंगे‘।  डा. खण्डेलवाल ने कहा कि स्काउट्स एण्ड गाईड्स लगभग 100 साल पुरानी संस्था है और यह युवक-युवतियों में कक्षा से बाहर जीवन जीने की कला सिखाती है। उन्होंने कहा कि स्काउट्स आंदोलन से जुडे़ लोग पर्यावरण संरक्षण, देश के प्रति कर्तव्य निर्वहन, दूसरों की सहायता करना, स्काउट्स के नियमों का पालन करते हैं जिसमें वे सभी गुण आते हैं जो एक अच्छे इंसान में होने चाहिए। डा. खण्डेलवाल ने कहा कि स्काउटिंग मंे हम व्यक्ति को सिखाते हैं कि यदि आप अभ्यास करोगे, परिश्रम करोगे तो आप कोई भी लक्ष्य प्राप्त कर सकते हो।  बैठक के बाद डा. खण्डेलवाल ने सराहनीय कार्य करने वाले डीओसी, डीटीसी को सम्मानित भी किया। 

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here