हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि कुण्डली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे के साथ-साथ पलवल से सोनीपत तक रेल क्नेक्टिविटी के लिए विस्तरित परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार की जा रही है। यह एक प्रकार से इक्नोमिक कोरिडोर बनने जा रहा है।

मनोहर लाल गुरूग्राम में हरियाणा रेल इंफ्रास्ट्रक्चर डिवलेपमेंट काॅपोरेशन लिमिटिड (एचआरआईडीसी) द्वारा ‘पलवल से सोनीपत तक हरियाणा ओरबिटल रेल कोरिडोर प्रोजैक्ट‘ पर स्टेक होल्डर्स के साथ विचार विमर्श के लिए आयोजित आउटरीच इंवेंट में बोल रहे थे। उन्होंने बताया कि भारत सरकार के रेल मंत्रालय के साथ देश के सभी राज्यों को अपने यहां काॅ-आॅपे्रटिव फैडरेलिजम के माध्यम से रेल इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित करने के लिए ज्वायंट वैंचर कंपनी बनानी थी। इसमें हरियाणा ने देश में लीड ली है और सबसे पहले एचआरआईडीसी का गठन किया, जोकि रेल मंत्रालय तथा हरियाणा सरकार की एक ज्वायंट वैंचर कंपनी है। उन्होंने कहा कि पिछले चार वर्षों मंे हमने हरियाणा प्रदेश में इंफ्रास्ट्रक्चर पर ध्यान दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि एचआरआईडीसी द्वारा पलवल से सोनीपत तक नई रेल लाईन बिछाने के लिए हरियाणा ओरबिटल रेल कोरिडोर प्रोजैक्ट बनाया गया है जिसकी डीपीआर तैयार की जा रही है। लगभग 130 किलोमीटर लंबाई की इस परियोजना पर 4,100 करोड़ रूपए की अनुमानित लागत आएगी और यह परियोजना तीन साल में पूरी होगी। श्री मनोहर लाल जींद उपचुनाव जीतने के बाद काफी उत्साह में नजर आए और उन्होंने फिर से हरियाणा प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने का विश्वास यह कहते हुए जताया कि यह परियोजना हमारी अगली टर्म पूरी होने से पहले पूर्ण हो जाएगी। इतना कहते ही कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों ने तालियां बजाकर उनके कथन का समर्थन किया।

उन्होंने कहा कि इस कोरिडोर की लागत को सभी स्टेक होल्डर्स को मिलकर जुटाना है। स्टेक होल्डर्स में भारतीय रेल, हरियाणा सरकार के अलावा, मारूति सुजुकि, काॅनकोर, डैडिकेटिड फे्रट कोरिडोर, एचएसआईआईडीसी, माॅडल
इक्नोमिक टाउनशिप लिमिटिड (पूर्व में रिलायंस हरियाणा एसईजैड लिमिटिड), आॅल कारगो सहित कई उद्योग तथा वितीय संस्थाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि ओरबिटल रेल कोरिडोर बनने से गुरूग्राम और फरीदाबाद शहरों से शताब्दी टेªन सीधी चण्डीगढ़ जाएगी, इसके लिए दिल्ली नहीं जाना पडे़गा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में गुरूग्राम अथवा फरीदाबाद से चण्डीगढ़ जाने के लिए दिल्ली से शताब्दी पकड़नी पड़ती है।

मनोहर लाल ने कहा कि हरियाणा ओरबिटल रेल कोरिडोर प्रोजैक्ट से गुरूग्राम, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, पलवल, मानेसर, फरूखनगर आदि हरियाणा के मुख्य शहरों को सीधी त्वरित रेल क्नेक्टिविटी मिलेगी और इससे  सोहना,
मानेसर, गुरूग्राम, रोहतक, बहादुरगढ़, कुण्डली आदि शहरों में औद्योगिक विकास को गति मिलेगी। ये औद्योगिक शहर आपस में जुड़ जाएंगे जिससे बहुत बड़ी आबादी को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि शहरों में आबादी बढ़ रही है और एक
अनुमान के अनुसार जहां पहले कुल आबादी का 20 प्रतिशत आबादी ही शहरों मंे रहती थी, वह बढकर अब 30 से 35 प्रतिशत हो गई है। अनुमान लगाया जा रहा है सन् 2050 तक 50 प्रतिशत आबादी शहरों में आ जाएगी। शहरों के रेल कोरिडोर के माध्यम से आपस में जुड़ने से इस आबादी को लाभ होगा। यही नहीं, इस कोरिडोर से डैडिकेटिड फे्रट कोरिडोर और काॅनकाॅर तुगलकाबाद से सीधी क्नैक्टिविटी मिलेगी जिससे देश के पूर्वी तथा पश्चिमी भागों से भी जुड़ाव
होगा। उन्होंने कहा कि हिसार में एयरपोर्ट बना है, वैसे तो दिल्ली और हिसार के बीच रेलवे लाईन है लेकिन दिल्ली से हिसार के बीच फास्ट टैªक रेलवे लाईन बिछाने की योजना है। उन्होंने कहा कि फंडिंग का प्रबंध हुआ तो
पूरे हरियाणा में रेल का जाल बिछा देंगे।

उन्होंने यह भी बताया कि एचआरआईडीसी द्वारा यमुनानगर से चण्डीगढ़ वाया नारायणगढ़-सढोरा, सोहना-नूंह-अलवर, फरूखनगर-झज्जर-चरखी दादरी, करनाल-यमुनानगर, जींद-हिसार तथा भिवानी-लोहारू नई रेल लाईने बिछाने की
परियोजना की फिजिब्लिटी स्टडी करवाई जा रही है।

इससे पहले एचआरआईडीसी के प्रबंध निदेशक दिनेश चंद देशवाल ने कंपनी की गतिविधियों के बारे में विस्तार से बताया और कहा कि आज स्टेक होल्डर्स की कार्यशाला का शुभारंभ लोक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक
निगम द्वारा किया गया था। उन्होंने एक पै्रन्टेशन के माध्यम से बताया कि ओरबिट रेल कोरिडोर आईएमटी सोहना के पास से गुजरेगा और मानेसर में मारूति प्लांट को डायरेक्ट क्नेक्टिविटी देगा जिससे कि मारूति गाड़ियां ढोने के
लिए प्रयोग किए जाने वाले लंबे ट्रालों से निजात मिलेगी। इसी प्रकार, सुल्तानपुर मंे नया स्टेशन तथा बसई-धनकोट में भी नया स्टेशन बनाया जाना प्रस्तावित है।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव वी उमाशंकर, मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार अमित आर्य, लोक निर्माण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक निगम, रेलवे बोर्ड के एग्जिक्युटिव डायरेक्टर हरपाल सिंह, उपायुक्त
विनय प्रताप सिंह, एचएसआईआईडीसी के प्रबंध निदेशक डा. नरहरि सिंह बांगड़, एचआरआईडीसी के एडवाईजर सुबोध जैन, गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, हरियाणा डेयरी विकास प्रसंघ के चेयरमैन जी एल शर्मा, भाजपा जिलाध्यक्ष भूपेंद्र
चैहान, उपाध्यक्ष हरविंद कोहली, पूर्व कार्यकारी जिलाध्यक्ष अधिवक्ता कुलभूषण भारद्वाज सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

 

delhincrnews.in reporter

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here