मंडल रोजगार कार्यालय द्वारा आज गुरूग्राम की महिला आईटीआई परिसर में लगाए गए रोजगार मेले में 690 युवक-युवतियों द्वारा अपना पंजीकरण करवाया गया जिनमें से 290 को विभिन्न कंपनियों द्वारा नियुक्ति की पेशकश की गई। इस मेले का शुभारंभ उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने रिबन काटकर किया था। मेले में 50 विभिन्न कंपनियों से नियोक्ताओं ने भाग लिया।

रोजगार मेले के शुभारंभ अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर पहुंचे उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने कंपनियों से कहा कि वे ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार देने का प्रयास करंे और जो युवा उन्हें रोजगार देने के लायक नहीं पाए जाते हैं, उसके बारे में प्रत्येक उम्मीदवार की फीडबैक रोजगार विभाग के अधिकारियों को दें ताकि उन उम्मीदवारों को उनकी कमियां बताई जा सके और वे अगली बार साक्षात्कार में उन कमियों को दूर करके रोजगार प्राप्त करने में सफल हों। उन्होंने कहा कि रोजगार मेले में आने वाले कुछ युवक-युवतियां गंभीर होते हैं जबकि कुछ प्रार्थी मेले को देखने तो कुछ
अन्य बिना तैयारी के अपना भाग्य आजमाने पहुंचते हैं। उन्होंने कहा कि नियोक्ता के तौर पर पहुंचे कंपनियों के प्रतिनिधियों को भी गंभीर, ईमानदारी से काम करने वाले तथा कंपनी के अन्य कर्मचारियों के साथ टीम वर्क करने वाले युवाओं की आवश्यकता होती है। उन्होंने कहा कि नियोक्ताओं की खोज सही प्रार्थी का चयन करने की रहती है, लेकिन कोई उम्मीदवार यदि मार्जिन पर भी नजर आए तो उसका भी चयन किया जाना चाहिए क्योंकि थोडे़ से समय के साक्षात्कार में कई बार उम्मीदवार के गुणों का पूरा पता नहीं चल पाता।

उन्होंने मेले में भाग लेने के लिए पहुंचे युवाओं से कहा कि जिस प्रकार से आपको अच्छी नौकरी की जरूरत है उसी प्रकार से कंपनियों को भी अच्छे कर्मचारियों की जरूरत होती है। नियोक्ता मुख्य रूप से उम्मीदवारों में यह देखते हैं कि उसमें सीखने की ललक है, काम के प्रति कितनी गंभीरता है, टीम के साथ काम कर सकता है अथवा नहीं तथा संस्थान के प्रति वफादारी कितनी है। ये सभी गुण यदि आप में होंगे तो आप करियर में ऊंचाई पर जाएंगे और काम से आपके मन को भी संतुष्टि मिलेगी, लेकिन ये गुण नहीं होने पर यदि नौकरी लग भी गई तो आप ज्यादा दिन नहीं टिक पाएंगे। श्री सिंह ने कहा कि कुछ लोग स्वयं अच्छा काम जानते हैं लेकिन संस्थान के अन्य कर्मचारियों को साथ लेकर नहीं चल सकते। जो व्यक्ति समन्वय बिठाकर काम करेगा उसके लिए रोजगार के अवसर ज्यादा उपलब्ध होंगे। इसके साथ उपायुक्त ने यह भी कहा कि जिन उम्मीदवारों को किसी वजह से आज चयन ना हो, वे भी निराश ना हों क्यांेकि यह कोई अंतिम अवसर नहीं है। हो सकता है उन्हें भविष्य में इससे भी अच्छी नौकरी ज्यादा पैकेज पर मिल जाए, इसलिए प्रयास करते रहें।

इससे पहले अपने विचार रखते हुए रोजगार विभाग के उपनिदेशक सुरेंद्र सिंह मोर ने रोजगार विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी देते हुए बताया कि सरकार ने हाल ही में नवज्योति इंडिया फाउंडेशन, उबर आदि कंपनियों के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर  किए हैं जिनके माध्यम से 25 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा रोजगार मेले लगाकर ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार दिलवाते हुए अपने पैरो पर खड़ा करना है। विभाग की उपनिदेशक सुमन गहलोत ने बताया कि विभाग द्वारा गुरूग्राम में अब तक 14 रोजगार मेले लगाए जा चुके हैं जिनके माध्यम से 542 युवाओं को रोजगार दिलवाया गया है। आज का यह मेला 15वां है। आईटीआई के प्राचार्य रविंद्र कुमार ने आए हुए अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया। यूथ एम्प्लोयब्लिटी सर्विस (यश) के प्रतिनिधि ने बताया कि उनके संगठन द्वारा युवाओं विशेषकर महिलाओं की काउंसलिंग करवाकर उन्हें रोजगार दिलवाने में मदद की जाती है।

 

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here