गुरुग्राम: श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय द्वारा तीन दिवसीय लाइव कार्यशाला का आयोजन

कार्यशाला के बारे में जानकारी देते हुए विश्व विद्यालय के डीन एकेडमिक्स डॉ आर एस राठौर ने कहा कि कार्यशाला में प्रतिभागियों को क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क (क्यूएफ) मैपिंग और एनएसक्यूएफ संरेखण से संबंधित सभी मुद्दों पर प्रशिक्षण दिया गया है

0
1
श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय (एसवीएसयू) हरियाणा द्वारा एनआईटीटीआर भोपाल के सहयोग से योग्यता फ़ाइल और एनएसक्यूएफ संरेखण पाठ्यक्रम तैयार करने के लिए तीन दिवसीय लाइव कार्यशाला का आयोजन किया गया। विश्वविद्यालय के कुलपति राज नेहरू ने कहा कि इस विश्विद्यालय ने कौशल आधारित शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए स्थापित भारत का पहला सरकारी कौशल विश्वविद्यालय है, जिसने यूजीसी के अनुसार नवीन नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क से सम्बद्ध  डिप्लोमा, उन्नत डिप्लोमा, स्नातक डिग्री और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों को लागू करने का बीड़ा उठाया है। इस संबंध में स्किल ढांचे की मजबूती के लिए विश्वविद्यालय द्वारा भोपाल के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्निकल  टीचर ट्रेनिंग एंड रिसर्च के सहयोग से तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है, जिसका मुख्य उद्देश्य प्रतिभागियों को राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क के अनुसार ‘आउटकम बेस्ड लर्निंग’ की अवधारणा को विकसित करने में मदद करना, योग्यता फ़ाइल तैयार करने के लिए प्रतिभागियों को योग्यता फ़ाइल के विभिन्न घटकों को समझने के लिए प्रशिक्षित  करना, प्रतिभागियों को नेशनल स्किल क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क, आउटकम आधारित योग्यता, योग्यता फाइलें और क्वालिफिकेशन फाइल के अनुमोदन की प्रक्रिया के बारे जागरूक करने के अलावा प्रतिभागियों को एनएसडीए में जमा करवाने लायक कम से कम एक  फाइल तैयार करने का अवसर प्रदान करना तथा एक ऐसा पाठ्यक्रम तैयार करना जो एनएसक्यूएफ से मेल खाता हो और यूजीसी की दोहरी शिक्षा पद्धति के  दिशा निर्देशों के अनुरूप  हो।
अपने अंतर्राष्ट्रीय अनुभव साँझा करते हुए राज नेहरू  ने कहा कि दुनिया के अधिकांश देश अब अपने शिक्षा व कौशल विकास में विभिन्न प्रयोग कर रहे  हैं और समाज में  आने वाली जरूरतों  के लिए उनकी प्रासंगिकता के अनुसार इन योग्यताओं को एक-दूसरे के साथ जोड़कर विकसित कर रहे हैं। भारत सरकार ने भी एक राष्ट्रीय कौशल योग्यता फ्रेमवर्क को अधिसूचित किया हुआ है, जिसका उद्देश्य देश भर में स्वीकार किए गए परिणामों के आधार पर प्रत्येक स्तर के लिए योग्यता का एक सेट विकसित करना है। ये योग्यताएं राष्ट्रीय कौशल योग्यता समिति (एनएसक्यूसी) की मंजूरी के बाद राष्ट्रीय योग्यता रजिस्टर में दर्ज की जाती हैंI चूंकि यह नई अवधारणा है और कौशल विश्वविद्यालय ने इस क्षेत्र में एक महत्वपूर्ण प्रगति की है, इस तरह की पहल के माध्यम से हमारा उद्देश्य देश में कौशल बुनियादी ढांचे के विकास
और निर्माण में सहयोग करना है I
कार्यशाला के बारे में जानकारी देते  हुए विश्व विद्यालय के डीन एकेडमिक्स डॉ आर एस राठौर ने कहा कि एनएसक्यूएफ में योग्यता शामिल करने की प्रक्रिया में एनएसक्यूसी द्वारा मूल्यांकन और अनुमोदन के लिए नेशनल स्किल डेवलपमेंट एजेंसी (एनएसडीए) द्वारा निर्धारित फॉर्मेट  योग्यता फ़ाइल सबमिट की जाती है । उन्होंने कहा कि इस तीन दिवसीय कार्यशाला में प्रतिभागियों को क्वालिफिकेशन फ्रेमवर्क (क्यूएफ) मैपिंग और एनएसक्यूएफ संरेखण से संबंधित सभी मुद्दों पर प्रशिक्षण दिया गया है I
तीन दिवसीय कार्यशाला में  प्रतिभागियों को अपने पाठ्यक्रम की एक योग्यता फ़ाइल विकसित करने का अवसर प्रदान किया गया है। स्किल यूनिवर्सिटी और एनआईटीटीटीआर, भोपाल के विशेषज्ञ प्रोफेसर आर बी शिवागुंडे, प्रोफेसर आर
एस रिजवी  तथा  प्रोफेसर निशीथ दूबे ने इसे  प्रतिभागियों के लिए एक लाइव लर्निंग अनुभव के रूप में प्रस्तुत किया ।
कार्यशाला  में केंद्रीय विश्वविद्यालय, एन जी एफ कॉलेज ऑफ़ इंजिनीरिंग एंड टेक्नोलॉजी पलवल, आईटीआई झज्जर, महिला आईटीआई बहादुरगढ़, कन्या महाविद्यालय खरखौदा, निफ्टेम कुंडली, कम्युनिटी कॉलेज, कन्या महाविद्यालय, थ्री एचएस इंडिया, डिविजनल एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज गुरुग्राम, डिस्ट्रिक्ट एम्प्लॉयमेंट एक्सचेंज नूंह, हरियाणा स्किल
डेवलपमेंट मिशन, राजकीय पॉलिटेक्निक सोनीपत, बीपीएस महिला विश्वविद्यालय खानपुर कलां सोनीपत, जेसी बोस विश्वविद्यालय, वाईएमसीए फरीदाबाद, राजकीय आईटीआई फरीदाबाद, राजकीय  पॉलिटेक्निक झज्जर, राजकीय आई टी आई मौजाबाद गुरुग्राम और मध्य प्रदेश राज्य स्किल डेवलपमेंट एंड एम्प्लॉयमेंट जनरेशन बोर्ड आदि संस्थाओं से 28 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया I
समापन कार्यक्रम में विश्व विद्यालय की रजिस्ट्रार डॉ रितु बजाज ने भी विश्वविद्यालय के विजन को साझा किया। डॉ राज सिंह अंतिल ने इस आयोजन की सुविधा प्रदान की। यह कार्यशाला अत्यंत सफल रही और प्रतिभागियों ने इस तरह की और कार्यशालाए आयोजित करवाने का अनुरोध किया I

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here