केंद्रीय योजना, रसायन एवं उर्वरक राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने आज कहा कि भारत को विश्व में अपनी पुरानी प्रतिष्ठा पुनः प्राप्त करने के लिए संस्कार युक्त शिक्षा देने के साथ-साथ जनसंख्या नियत्रंण पर ध्यान देना होगा।
राव इंद्रजीत सिंह आज गुरूग्राम शहर के खांडसा रोड़ स्थित डीएवी स्कूल में जन सेवा एवं सांस्कृतिक चेतना मंच के द्वितीय वार्षिक महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। उन्होंने सामाजिक कार्य करने के लिए मंच के प्रयासों की सराहना की और कहा कि उन्हें यह जानकर खुशी हुई है कि इस मंच मंे केवल पूर्वांचल ही नहीं बल्कि राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, बिहार तथा हरियाणा के लोग भी शामिल हैं जो यहां पर अपनी आजीविका कमाने आए थे और यहीं बस गए।
उन्होंने प्राचीन समय का उल्लेख करते हुए कहा कि उस समय भारत सोने की चिड़िया कहलाता था परंतु अंगे्रजो तथा अन्य आक्रमणकारियों ने इस देश को लूटा। अंगे्रज वाईस राय लार्ड मैकाले ने हमारे देश की शिक्षा पद्धति में बदलाव करके हमारी संस्कृति को चोट पहुंचाई। मैकाले ने भारत की पुरानी मजबूत शिक्षा पद्धति को बदलकर अंगे्रजी की शिक्षा यहां शुरू की। राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि हालांकि वे स्वयं भी अंगे्रजी स्कूल मंे पढे़ हैं फिर भी यह मानते हैं कि मैकाले ने हमारी शिक्षा पद्धति को तहस-नहस कर दिया। पहले जहां बच्चें अपने गुरुजनों, माता-पिता तथा बड़ों का आदर करते थे, नई पद्धति आने के बाद उनमें वे संस्कार नहीं डाले जा सके जिसके कारण एक-दूसरे के प्रति इज्जत का भाव नहीं रहा और भौतिकतावाद हमारी संस्कृति पर हावी हो गया। उन्होंने स्वयं का उल्लेख करते हुए कहा कि मेरी पीढ़ी के लोग तो अंगे्रजी के पीछे लग गए परंतु अब सोचने का वक्त है कि हम मूल रूप से हिंदुस्तानी हैं और हमारी संस्कृति क्या थी।
देश में प्रदूषण तथा अन्य समस्याओं का कारण बढ़ती जनसंख्या को ठहराते हुए राव इंद्रजीत सिंह ने कहा कि देश को विकास पथ पर आगे ले जाने के लिए जनसंख्या पर नियंत्रण जरूरी है, परंतु किसी भी दल ने इस बारे में बात नहीं की क्योंकि हर राजनीतिक दल को यह डर था कि उन्हें वोट नहीं मिलंेगे। उन्होंने सवाल किया कि जब लोग रहेंगे तो ही वोट लेंगे। उनका कहना था कि आज देश मंे हवा, पानी, जलवायु प्रदूषित हो गई है और सबसे ज्यादा हमारा चरित्र प्रदूषित हुआ है।
राव इंद्रजीत सिंह ने मंच के लोगों से कहा कि मेरे दरवाजे हमेशा आपके लिए खुले हैं, कोई भी समस्या हो तो मुझे बताएं।
इस अवसर पर गुरूग्राम की मेयर मधु आजाद, पूर्व मेयर विमल यादव, हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के सदस्य प्रो. हंसराज यादव, जिला परिषद के उपाध्यक्ष संजीव यादव, नगर निगम पार्षद सुमन यादव, मंच के प्रधान रणधीर राय, शंभु प्रसाद, हरियाणा पुलिस के पूर्व महानिदेशक शील मधुर सहित मंच के पदाधिकारी तथा सदस्यगण उपस्थित थे।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here