अब एनआरआई अर्थात् अप्रवासी भारतीय भी अपना वोट यहां बनवा सकते हैं। इसके लिए उन्हें फार्म-6ए भरना होता है, जो नेशनल वोटर्स सर्विसिज पोर्टल पर आॅनलाईन भी भरा जा सकता है। 
इस बारे में जानकारी जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने देते हुए बताया कि शायद अप्रवासी भारतीयों को यह पता नही है कि वे अपना वोट यहां बनवा सकते हैं क्यांेकि अब तक मिलेनियम सिटी कहे जाने वाले गुरूग्राम में मात्र चार एनआरआई ने ही अपना नाम मतदाता के रूप में दर्ज करवाने के लिए आवेदन किया है जबकि गुरूग्राम में एनआरआई की संख्या इससे ज्यादा ही होगी। उन्होंने कहा कि किसी भी अप्रवासी भारतीय को अपना वोट बनवाने के लिए भारत निर्वाचन आयोग की वैबसाईट पर जाकर ‘एनरोल एज एनआरआई वोटर‘ पर क्लिक करना होगा, उसके बाद नेशनल वोटर्स सर्विसिज पोर्टल (एनवीएसपी) खुल जाएगा जिस पर फार्म-6ए स्क्रीन पर प्रदर्शित होगा। इस फार्म में आवेदक को अपना नाम व पते के साथ पासपोर्ट की डिटेल, वर्तमान देश के विजा की डिटेल तथा भारत में सामान्य रूप से रहने के स्थान आदि की जानकारी भरनी होगी।
उन्होंने कहा कि यह बहुत ही सरल प्रक्रिया है और इस सुविधा का लाभ उठाते हुए एनआरआई भारतीयों को चाहिए कि वे स्वयं को मतदाता के रूप में पंजीकृत करवाएं। उपायुक्त ने बताया कि हरियाणा के मुख्य निर्वाचन अधिकारी राजीव रंजन ने वीडियों काॅन्फें्रसिंग के माध्यम से लोकसभा चुनाव की तैयारियों का जायजा लिया गया है। उन्होंने बताया कि गुरूग्राम जिला की मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन 14 जनवरी को कर दिया जाएगा, जिसके बाद ये सूचियां मुख्य निर्वाचन अधिकारी हरियाणा की वैबसाईट के अलावा, सभी मतदान केंद्रों पर उपलब्ध होंगी। यही नहीं, मतदाता सूची से संबंधित जानकारी देने के लिए दूरभाष नंबर 0124-1950 पर टोल फ्री वोटर हैल्पलाईन भी शुरू की जा रही है जिस पर कोई भी व्यक्ति फोन करके यह पता कर सकता है कि उसका मतदाता सूची में नाम दर्ज है अथवा नहीं। यदि दर्ज है तो कौन से विधानसभा क्षेत्र में है।
उपायुक्त ने यह भी कहा कि सभी राजनीतिक दलों को बूथ लैवल ऐजेंट (बीएलए) नियुक्त करने के लिए आग्रह किया हुआ है, जो बूथ लैवल अधिकारियों (बीएलओ) के साथ तालमेल करके मतदाता सूचियों को त्रुटि रहित बनाने में मदद देंगे। उन्होंने कहा कि नियम के अनुसार किसी एक व्यक्ति का नाम एक से अधिक विधानसभा क्षेत्रों में मतदाता के रूप में दर्ज नहीं होना चाहिए। उन्होंने बताया कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी हरियाणा के आदेशानुसार जिला में चुनाव से जुड़ी 19 अलग-अलग गतिविधियों के लिए अलग-अलग नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिए गए हैं।
उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनावों की तैयारियों के दृष्टिगत जिला में सभी मतदान केंद्रों का निरीक्षण करवाया जा रहा है और यह सुनिश्चित किया जा रहा है कि प्रत्येक मतदान केंद्र दिव्यांग हितैषी हो, वहां पर दिव्यांगों के लिए रैम्प की सुविधा के साथ-साथ शौचालय, पेयजल, बिजली आदि के पूर्ण प्रबंध हों।
उपायुक्त ने बताया कि 25 जनवरी को हर वर्ष की तरह राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाएगा और इस दिन 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाले युवाओं को मतदाता पहचान पत्र वितरित किए जाएंगे।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी हरियाणा की वीडियों काॅन्फें्रसिंग में उपायुक्त विनय प्रताप सिंह के अलावा, अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह, गुरूग्राम उतरी के एसडीएम संजीव सिंगला, गुरूग्राम दक्षिणी की एसडीएम डा. चिनार चहल, पटौदी के एसडीएम विवेक कालिया, चुनाव तहसीलदार संतलाल तथा चुनाव कानूनगो उपस्थित रहे।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here