मानेसर स्थित सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय के अधीन कार्यरत इंटरनेशनल सेंटर फाॅर आॅटोमोटिव टैक्नोलाॅजी(आईकैट) द्वारा वाहनों और उपकरणों के प्रमाणीकरण के लिए हाई सिक्योरिटी फीचरयुक्त सर्टिफिकेशन लांच किया है, जिससे इन सर्टिफिकेटों की नकल करके डूप्लीकेट सर्टिफिकेट नही बनाए जा सकेंगे।
सैंट्रर्ल मोटर व्हीकल रूल्स के तहत जारी किए जाने वाले सर्टिफिकेटों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए भारत में किसी आॅटोमोटिव सर्टिफिकेशन एजेंसी द्वारा यह पहला और अनूठा प्रयास है जिसमें वाहनों , इंजन तथा काॅम्पोनेंट्स के टाइप अप्रूव्ल सर्टिफिकेट और कन्फर्मिटि आॅफ प्रोडक्शन सर्टिफिकेट शामिल हैं। आईकैट मानेसर के निदेशक दिनेश त्यागी के अनुसार नए आईकैट सर्टिफिकेट फाॅर्मेट में 9 तरह के नए और अनूठे सुरक्षा फीचर हैं। इसमें सबसे महत्वपूर्ण फीचर कागज है जिस पर यह सर्टिफिकेट प्रिंट होकर आएगा क्योंकि यह एक विशेष कागज है जोकि आईकैट की आवश्यकता के अनुसार बनाया गया है। इसके अलावा, सर्टिफिकेट में हाई सिक्योरिटी पेपर, अल्ट्रावायलेट स्याही के प्रयोग से प्रिंटिंग, ट्राॅय मार्क , माइक्रोप्रिंट , पैंटोग्राफ, रिवर्स पैंटोग्राफ , सिक्योर कोड, प्रिंट कोड तथा आईकैट की डिजीटल प्रिंटिड स्टाम्प व सील शामिल हैं।
उन्होंने कहा कि इस सर्टिफिकेट में कुछ सुरक्षा फीचर अन्य सर्टिफिकेटों की तरह सामान्य प्रकार के हैं तथा कुछ अन्य फीचर विशेष किस्म के हैं जो अन्य सर्टिफिकेटों में नही होते। उन्होंने कहा कि कुछ फीचर केवल अल्ट्रा वाॅयलेट लाइट के माध्यम से ही देखे जा सकते हैं। इसके अलावा, ये सर्टिफिकेट आईकैट द्वारा विशेष रूप से आयात किए गए प्रिंटरों पर ही प्रिंट किए जाएंगे। श्री त्यागी ने कहा कि आईकैट भारत सरकार के सड़क परिवहन तथा राजमार्ग मंत्रालय की अधिकृत सर्टिफिकेशन एजेंसी है जो वाहनों की टैस्टिंग सर्विस आदि का प्रमाणीकरण करती है।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here