गुरूग्राम सैके्रटरी आरटीए की टीम ने गुरूग्राम में राजीव चौक तथा खेड़की दौला में छापा मारकर 7 बसों तथा 8 इको वैन को अवैध रूप से सवारी ढोते हुए पकड़ा और उनके चालान कर जब्त किया है। सैके्रटरी आरटीए एवं अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह ने बताया कि इन 7 बसों में से 2 बसों पर हरियाणा रोड़वेज की बसों जैसे रंग किया गया था तथा एक बस पर राजस्थान राज्य परिवहन तथा एक अन्य बस पर पंजाब रोड़वेज की बसों जैसा रंग किया गया है। अतिरिक्त उपायुक्त एवं सैके्रटरी आरटीए आर के सिंह ने बताया कि इन सभी बसों का कान्टेªक्ट कैरेज का परमिट है जिस पर वे किसी पार्टी  की बुकिंग पर आ जा सकती हैं लेकिन स्टेज कैरेज परमिट धारक बसों की तरह सवारी नहीं ले जा सकती।
उन्होंने बताया कि कान्टैªक्ट कैरेज परमिट वाली ये 7 बसें स्टेज कैरेज परमिट वाली बसों की तरह प्रयोग की जा रही थी जिससे सरकार को राजस्व का घाटा हो रहा था। उन्होंने कहा कि इन बसों के मालिक विभिन्न राज्यों की रोड़वेज बसांे जैसा रंग करवाकर सरकार को धोखा दे रहे थे। श्री सिंह ने बताया कि अवैध रूप से सवारी ढोते पाए जाने पर दो बसें गुरूग्राम के राजीव चैक पर पकड़ी गई हैं तथा अन्य 5 बसें खेड़की दौला टोल प्लाजा के पास पकड़ी गई। उन्होंने कहा कि हरियाणा, पंजाब, राजस्थान की राज्य परिवहन की बसांे जैसा रंग होने के कारण ये बसें बिना रोक टोक के चल रही थी। आज उन्होंने स्वयं जब छापे मारी की तो पता चला कि ये बसें अवैध रूप से सवारियां ढो रही हैं जिसके लिए वे अधिकृत नहीं है। इन सभी बसों के चालान किए गए हैं तथा इन्हें इंपाउंड किया गया है।
उन्होंने कहा कि यदि नियमों में संभव हुआ तो अवैध रूप से सवारी ढोने वाली बसों के मालिकों के खिलाफ पुलिस में एफआईआर भी दर्ज करवाई जाएगी। इस विषय में डिस्ट्रिक्ट अटाॅरनी से विचार विमर्श किया जा रहा है। ये बसें गुरूग्राम से सोहना के अलावा, दिल्ली से मानेसर, रेवाड़ी, जयपूर रूट और पंजाब रूट पर चलाए जाने का आरोप है।
अतिरिक्त उपायुक्त ने यह भी बताया कि आज छापेमारी के दौरान उन्होंने इफको चैक पर 8 मारूति इको वैन भी पकड़ी हैं जो निजी प्रयोग के लिए होने के बावजूद सवारी वाहन के तौर पर प्रयोग की जा रही थी। इन इको वैन का काॅमर्शियल प्रयोग नहीं किया जा सकता इसलिए इनका भी चालान किया गया है।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here