भारत चीन युद्ध में देश की रक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर अपना नाम अमर करने वाले रेजांगला के वीर शहीदों की गाथा अब नौजवान पीढ़ी को प्रेरणा देने का काम करेगी। वीर वीरों का अदम्य साहस की कहानी अब रंगीन पर्दे पर एक डॉक्यूमेंटेड के जरिए देश भर में लोगों के बीच लाया जा रहा है।  वीरवार देर से सांय बैटल आफ रेजांगला की डॉक्यूमेंट्री स्क्रीनिंग का शुभारंभ केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने दिल्ली में किया । इस इस अवसर पर रिटायर्ड मेजर जनरल जीडी बक्शी के साथ लेफ्टिनेंट जनरल बीएस सहरावत डायरेक्टर जनरल राष्ट्रीय राइफल्स कर्नल ऑफ द कुमाऊँ रेजीमेंट व लेफ्टिनेंट जनरल एसएस मिश्रा,  वीएसएम डायरेक्टर जनरल इन्फेंट्री सहित सेना के पूर्व अधिकारी उपस्थित थे। केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत ने कहा कि रेजांगला के वीरों की कहानी देश के  सामने पर्दे पर पहली बार आ रही है इन वीरों की कहानी देश के युवाओं को प्रेरणा  व ऊर्जा देने का काम करेगी । उन्होंने जनरल बख्शी की ओर से किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि फिल्म निर्देशक भी देश के स्वर्णिम इतिहास को पर्दे पर लाने का काम करें।

उन्होंने रिजंगला के वीर शहीदों को नमन करते हुए कहा कि उनकी शहादत से अहीरवाल व देश का  गौरव बढ़ा है । उन्होंने कहा कि हरियाणा के लोग पेटी की नोकरी कर देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे है। रेजांगला के वीरो की शहादत को आंका नही जा सकता। कार्यक्रम के आयोजक डॉक्यूमेंट्री के ऑर्थर व  स्पीकर रिटायर्ड जनरल  जीडी बक्शी ने कहा कि देश के वीर जवानों ने सीमाओं की रक्षा के लिए प्राण की बाजी लगाने कभी संकोच नहीं किया ।  शहीदों के परिवारों की पीढ़ी भी आज   सेना में रहकर देश की सेवा कर रही है । उन्होंने कहा कि देश के वीरों की गाथा नई पीढ़ी को इतिहास से अवगत कराएंगे और युवाओं में देश सेवा का जज्बा पैदा करेंगे । इस अवसर पर रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल करण यादव लेफ्टिनेंट जनरल एस एल होंडा लेफ्टिनेंट जनरल नंदा मेजर जनरल आरके अरोड़ा मेजर जनरल आरके खन्ना एडमिरल राधाकृष्णन सहित अनेक पूर्व सेना अधिकारी उपस्थित थे।

 

delhincrnews.in reporter

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here