राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर-48 (दिल्ली-जयपुर) को महरौली-गुरूग्राम सड़क से जोड़ने के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) द्वारा बनाई जाने वाली प्रस्तावित सड़क की री-अलाईनमंेट करने के लिए प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह एनएचएआई से आग्रह करेंगे।
इस संबंध में राव नरबीर सिंह ने एक प्रैस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा कि उन्हें समाचार पत्रों के माध्यम से ज्ञात हुआ है कि एनएचएआई द्वारा एनएच-48 तथा एमजी रोड़ ़ तक बनाई जाने वाली यह प्रस्तावित सड़क बायोडायवर्सिटी पार्क के अंदर से गुजरेगी और इससे पर्यावरण को नुकसान होगा। यह समाचार पढने के बाद उन्होंने फैंसला किया है कि वे इस सड़क की री-अलाईनमेंट के लिए एनएचएआई को लिखेंगे क्योकि वे नहीं चाहते कि किसी भी प्रकार से पर्यावरण को नुकसान हो। राव नरबीर सिंह ने यह भी कहा कि इस सड़क के निर्माण में लोक निर्माण विभाग की कोई भूमिका नहीं है और राष्ट्रीय राजमार्ग से एमजी रोड़ को जोड़ने वाला सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी से इसलिए मंजूर करवाया गया था ताकि गुरूग्राम वासियों को टैªफिक जाम से मुक्ति मिल सके।
उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग नंबर-48 को एमजी रोड़़ के साथ जोड़ने से वाहन चालकों को एक और वैकल्पिक मार्ग उपलब्ध होगा और इससे गुरूग्राम शहर में टैªफिक जाम से राहत मिलेगी। राव नरबीर सिंह ने कहा कि गुरूग्राम में निकासी के जितने रास्ते अधिक होंगे, उतनी ही लोगों को सुविधा होगी और सड़कें जाम से मुक्त होंगी। उन्हांेने कहा कि एनएच-48 से एम जी रोड़ को जोड़ने के लिए एंबीयंस माॅल के साथ से सड़क बनाने का प्रस्ताव है। इसमें उनका प्रयास रहेगा कि इस सड़क को बनाने में किसी भी तरीके से पर्यावरण को नुकसान ना हो और वे इस सड़क के री-अलायमनमेंट के लिए एनएचएआई से अनुरोध करेंगे।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here