मुख्यमंत्री ने उपायुक्तों को स्पष्ट तौर पर कहा कि वे आम जनता को पाॅलिथीन का प्रयोग नही करने के लिए प्रेरित करें क्योंकि यह प्र्यावरण के लिए बहुत ही नुकसानदायक है। उन्होंने कहा कि बच्चों की मदद से इसके लिए जन जागरण अभियान चलाया जाए।
पाॅलिथीन का प्रयोग रोकने के लिए गुरूग्राम में किए गए उपायों की जानकारी देते हुए नगर निगम के आयुक्त यशपाल यादव ने मुख्यमंत्री को बताया कि गुरूग्राम में पाॅलिथीन इक्ट्ठा करके उससे सड़क बनाने का नया प्रयोग किया जाएगा। उन्होंने बताया कि दिसंबर के पहले सप्ताह में गुरूग्राम नगर निगम पाॅलिथीन का प्रयोग करके 2 किलोमीटर लंबाई की सड़क बनाने जा रहा है। उन्होंने बताया कि पाॅलिथीन के प्रयोग की रोकथाम के लिए पिछले तीन महीनों में नगर निगम द्वारा अपने चारो जोनो में चार टीम लगाकर 1013 चालान किए गए। उन्होंने बताया  िकइस दौरान चारों जोनो में स्वयं सहायता समूहों तथा जिला रैडक्रास सोसायटी के सहयोग से कपड़े के एक लाख थैले भी बटवाएं गए। इसके अलावा, यशपाल यादव ने बताया कि वेस्ट टू आर्ट वक्र्स के तहत निगम द्वारा कचरे से कलात्मक कार्य करवाने के लिए शीघ्र ही आरएफपी फलोट की जाएगी।
ठोस कचरा प्रबंधन के बारे में रिपोर्ट देते हुए यशपाल यादव ने बताया कि गुरूग्राम जिला मे मोबाइल सी एंड डी वैस्ट प्लांट का नया प्रयोग किया जाएगा। उन्होंने बताया कि वर्तमान में चार एजेंसियां हायर की हुई है और टोल फ्री नंबर पर ठोस कचरे के बारे में सूचना मिलते ही उसे वहां से उठवा लिया जाता है। इसके साथ ही यशपाल यादव ने यह भी बताया कि सोहना और पाली के क्रैशर संचालक इस मलबे को रि-यूज करने के लिए तैयार हो गए हैं। मोबाइल सी एंड डी प्लांट आने के बाद मलबे को टाइल बनाने वाली फैक्ट्रियों में भेजा जा सकेगा। लिक्विड वैस्ट के बारे में यशपाल यादव ने बताया कि जिन क्षेत्रों में सिवरेज की कनेक्टिविटी नही है, उनके लिए चार फर्म हायर की हुई है जो सक्शन टैंकों के माध्यम से सीवरेज के मलबे को एसटीपी पर पहुंचा रही हैं। उन्होंने यह भी बताया कि नगर निगम द्वारा विभिन्न क्षेत्रों मेे माइक्रो एसटीपी लगाए जा रहे हैं जिनके माध्यम से सीवरेज के पानी को ट्रीट करके पार्कों में सिंचाई के लिए प्रयोग किया जाएगा। इससे पेयजल की बचत होगी।
इस अवसर पर चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री के साथ शहरी स्थानीय निकाय मंत्री कविता जैन, सहकारिता मंत्री मनीष ग्रोवर, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजेश खुल्लर, बिजली निगमों के अतिरिक्त मुख्य सचिव पी के दास, शहरी स्थानीय निकाय के प्रधान सचिव आनंद मोहन सरन सहित कई वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। वही गुरूग्राम में उपायुक्त विनय प्रताप सिंह , नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव, अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह , नगराधीश मनीषा शर्मा, मुख्यमंत्री के सुशासन सहयोगी वैभव लिमेय , बिजली निगम के अधीक्षण अभियंता अनिल गोयल सहित कई अधिकारीगण उपस्थित थे।

 

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here