फरीदाबाद की १७ वर्षीय सुमेधा बांठिया ने साउथ कोरिया में 4 से 14 सितंबर २०१८ को आयोजित 18वीं एशियन रोलर स्केटिंग चैंपियनशिप में भारत का प्रतिनिधित्व करते हुए इनलाइन हाॅकी खेल में रजत पदक जीतकर परिवार, शहर व देश का नाम रोशन किया है।
पदक जीत कर लौटी सुमेधा को फरीदाबाद उपायुक्त अतुल कुमार ने बधाई दी व भविष्य में अधिक मेडल जीतने के लिए प्रोत्साहित किया। सैक्टर 15 फरीदाबाद के नरगिस व पंकज बांठिया की होनहार सुपुत्री को बधाई देते हुए उन्होंने उसके उज्जवल भविष्य की मंगल कामना की।
सुमेधा अपने माता पिता नरगिस व पंकज बांठिया के साथ
सुमेधा बांठिया जब केवल साढ़े चार साल की उम्र की थी तब 2006 में हरियाणा राज्य स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, सेक्टर 12 , फरीदाबाद में प्रसिद्ध अंतर्राष्ट्रीय कोच जॉन डेविड के सक्षम मार्गदर्शन के तहत उन्होंने स्केटिंग शुरू कर दी थी। वह रोजाना सुबह २ घंटे और शाम को २ घंटे स्केटिंग का अभ्यास करती हैं। वह अपनी कामयाबी का सारा श्रेय अपने कोच  जाॅन डेविड एवं अपने माता-पिता को देती हैं।
जिला स्तर से राष्ट्रीय चैंपियन और एशियाई चैंपियन की उनकी यात्रा संक्षिप्त में: २००६ से लेकर आज तक उन्होंने जिला स्तर पर , हरियाणा राज्य स्तर पर और राष्ट्रीय स्तरीय रोलर स्केटिंग चैंपियनशिप्स में रोलर स्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित इन सभी स्केटिंग चैंपियनशिप्स में अब तक 64 स्वर्ण, रजत और कांस्य पदक और 7 स्पीड चैंपियन ट्रॉफी जीते हैं। विशाखापत्तनम 2016 में और जोधपुर 2017 में आयोजित राष्ट्रीय रोलर हॉकी चैम्पियनशिप में दोनों बार उन्होंने प्रतिष्ठित स्वर्ण पदक जीतकर जूनियर राष्ट्रीय चैंपियन का खिताब कमाया।
इस गौरव को हरियाणा में लाने के लिए उन्हें 3 लाख रुपये के नकद पुरस्कार से हरियाणा के माननीय गवर्नर श्री कप्तान सिंह सोलंकी और खेल मंत्री अनिल विज ने 21-03-2017 को अंबाला में उन्हें सम्मानित किया। बाद में उन्हें अगस्त 2017 में चाइना में आयोजित विश्व रोलर गेम्स चैंपियनशिप में अपने देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए चुना गया जिसमें टीम इंडिया ने उल्लेखनीय 5 वें स्थान पर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाई। और अब सितंबर 2018 में कोरिया में आयोजित 18वें एशियाई रोलर स्केटिंग चैम्पियनशिप में उन्होंने प्रतिष्ठित रजत पदक जीत कर अपने देश का गौरव बढ़ाया है।
सुमेधा को अपने स्केटिंग अभ्यास के लिए प्रतिदिन बहुत समय देना पड़ता है, फिर भी वह अपनी पढ़ाई के लिए समान प्रतिबद्धता देने में सक्षम रही है, जो उसे एक औल-राउंडर के रूप में चिह्नित करता है। वह एपीजे स्कूल सैक्टर 15 फरीदाबाद की 12वीं कक्षा की मेधावी छात्रा हैं और पढ़ाई के क्षेत्र में भी कई अवार्ड और मैडल जीत चुकी हैं।
 –delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here