सोहना स्थित देवीलाल स्टेडियम में शिव रामलीला कमेटी द्वारा आयोजित रामलीला मंचन कार्यक्रम में क्षेत्र के प्रमुख समाजसेवी सुभाष भारद्वाज मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। यहां पहुंचने पर कमेटी के पदाधिकारियों ने फूल-मालाएं पहनाकर उनका जोर स्वागत किया व मोमेंटो भेंट कर उन्हें सम्मानित भी किया। इस मौके पर भारद्वाज ने अपने निजी कोष से कमेटी को बतौर सहायतार्थ 11 हज़ार रुपए की राशि भेंट दी। इस अवसर पर समाजसेवी सुभाष भारद्वाज ने दर्शकों को संबोधित करते हुए कहा कि रामलीला हमें परिवार की जिम्मेदारी, रिश्तों में प्रेमभावना, माता-पिता व गुरुओं की आज्ञाओं का पालन करने की सीख देती हैं। भगवान राम ने मर्यादाओं को ध्यान में रखते हुए समाज का कल्याण किया, जिससे आज उन्हें मर्यादा पुरुषोत्तम कहा जाता है। उन्होंने अपने पिता की आज्ञा का पालन करते हुए समस्त राजपाठ छोड़ 14 वर्ष तक वनवास भी भोगा था। उन्होंने कहा कि भगवान श्रीराम पर आधारित रामलीलाएं बड़ी शिक्षाप्रद हैं। यहां पर हमें कई ज्ञानवर्धक शिक्षा प्राप्त होती है। प्रभु श्रीराम भारतीय संस्कृति के आदर्श का प्रतीक है। अपने आचार-विचार से हमें सत्कर्म पर चलना चाहिए। विपरीत परिस्थितियों में भी सच्चाई के पथ को नही छोडऩा चाहिए।
उन्होने कहा कि हालांकि रामलीला मंचन की परम्परा सदियों पुरानी है लेकिन आज के बदलते युग में भी श्रीराम की लीलाओं का मंचन होना यह जाहिर करता है कि हमारी संस्कृति व संस्कार की जड़े काफी गहरी है। रामलीला के सभी पात्र हमारे समाज के दर्पण है। जिससे हम प्रेरित होते है। अगर समाज के लोग भी रामायण के माध्यम से अपनी संस्कृति व सभ्यता का अवलोकन करे तो समाज से बुराई खत्म हो जाएगी। लोगों को चाहिए वह अपने बच्चों को रामायण से अवगत कराए ताकि युवा पीढ़ी रामायण से शिक्षा ग्रहण कर सके।
इस मौके पर जयप्रकाश सिंगला, नारायण दास गर्ग, अजय गुप्ता, गौरव चुघ, देवेंद्र कुमार, रामकिशन, मोहन सिंह, जयप्रकाश गर्ग, दिनेश कुमार, श्यामलाल, बहालसिंह खटाना, चंद्रप्रकाश, राजेंद्र प्रकाद, प्रेमसिंह, बीरसिंह, छत्रपाल, समय सिंह, देवीसिंह, राजकुमार, विजय कुमार, लक्ष्मण दास, अशोक जैन, देवेंद्र तायल, मन्दासी सैनी, गोबिन्द राम, केशवदेव, सुभाष चंद, रामअवतार, दिनेश चंद, मुकेश कुमार, विकास गुप्ता, विजय कुमार गोयल, लाला त्यागी, धर्म भारद्वाज, राहुल, दीपू भारद्वाज भी मौजूद रहे।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here