हरियाणा महिला विकास निगम द्वारा महिलाओं के सामाजिक, व आर्थिक उत्थान के उद्ेदश्य से महिलाओं व लड़कियों को उच्च शिक्षा के लिए 5 प्रतिशत ब्याज दर पर सब्सिडी देने की पहल की गई है। यह ऋण बैंकों के माध्यम से दिया जाता है ताकि महिलाएं उच्च शिक्षा जैसे व्यवसायिक/तकनीकी डिप्लोमा, स्नातक, स्नातकोतर व चिकित्सा आदि के लिए दिया जाता है ताकि अत्यधिक फीस के कारण महिलाओं की शिक्षा बाधित ना हो।
शिक्षा ऋण के बारे में पात्रता का उल्लेख करते हुए हरियाणा महिला विकास निगम के जिला प्रबंधक देशराज ने बताया कि ऋण बैंक की उच्च शिक्षा योजना के अनुसार ही दिया जाएगा। इस योजना के तहत हरियाणा का स्थानीय निवासी ही पात्र होगा। शिक्षा ऋण के लिए आमदनी, जाति एवं सम्प्रदाय मापदंड नही हैं। हरियाणा सरकार के कर्मचारियों की लड़कियां/महिलाएं भी ऋण की पात्र हैं। व्यवसायिक/ तकनीकी डिप्लोेमा, स्नातक, स्नातकोतर, डोक्टरल, पोस्ट डोक्टरल इत्यादि कोर्स के लिए ऋण लेने के पात्र हैं।
उन्होंने बताया कि आवेदक को ऋण प्राप्ति के लिए आवेदन पत्र व बैंक से संबंधितसभी औपचारिकताएं पूरी करके बैंक में जमा करवाना होगा तथा आवेदन पत्र की एक प्रतिलिपि महिला विकास निगम के संबंधित जिले में जिला प्रबंधक के पास देनी होगी। इसके अलावा, ऋण स्वीकृति के बाद बैंक स्वीकृत पत्र की एक प्रति संबंधित जिला प्रबंधक को भेजेगा। बैंक ऋण की वितरित होने वाली हर किश्त के बाद दिनांक व ऋण की राशि की एक प्रति जिला प्रबंधक कार्यालय को भेजेगा।  देशराज ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि यह एक महत्वाकांक्षी योजना है जिसका लाभ महिलाओं को अवश्य उठाना चाहिए ताकि वे धन के अभाव में अपनी पढ़ाई से वंचित ना रहें और उच्च शिक्षा प्राप्त कर देश व राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाए।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here