आज यहाँ ALT Center एवं राष्ट्रीय सैनिक संस्था ने परमवीर चक्र प्राप्त शहीद अब्दुल हमीद के शहादत दिवस पर शहीदों के परिवारों का सम्मान कार्यक्रम आयोजित किया| अब्दुल हमीद के प्रतिनिधि अखलाख अहमद, 1857 में मेरठ के शहीद जबरदस्त खान के वंशज मरगूब त्यागी और धौलाना के शहीद ठाकुर दुर्गा सिंह के वंशज विजय शिशौदिया के साथ – साथ अशोक चक्र प्राप्त शहीद मेजर मोहित शर्मा, महावीर चक्र प्राप्त शहीद कैप्टन जी. एस. सूरी, कीर्ति चक्र प्राप्त शहीद कैप्टन देवेन्द्र जस, शौर्य चक्र प्राप्त कैप्टन मोहन सिंह एवं अन्य शहीदों के परिवारों को भी सम्मानित किया गया|

सम्मान करने वालो में शामिल थे नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के वंसज चन्द्र कुमार बोस , माननीय सांसद अनिल अग्रवाल, आचार्य प्रमोद कृष्णंम, मौलाना अंसार रजा, साठे ग्रुप आफ़ इंडस्ट्रीज के चेयरमैन देशभक्त हरविलाश गुप्ता , राष्ट्रीय कवियित्री ख्यातिप्राप्त डा रमा सिंह , सामिया इंटरनेशनल बिल्डर्स लिमिटेड  के सी एम डी  जमील अहमद खान, उत्कृष्ट समाज सेवी श्री अमित गर्ग , राष्ट्रीय सैनिक संस्था उत्तर प्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष कप्तान सुरेश चंद त्यागी एवं अनन्य देशभक्त नागरिक और गौरव सेनानी |

चन्द्र कुमार बोस ने तथ्यों के साथ बताया की आजादी नेताजी की वजह से ही मिली थी|70 सालो से झूठ प्रचार किया जा रहा है की  “ दे दी हमें आजादी बिना खड़क बिना ढाल ”I ALT  Center के चीफ जनरल मैनेजर एम के  सेठ ने कहा की शहादत सर्वोच्च बलिदान होता है इस लिए शहीद के परिवारों को सम्मान भी सर्वोच्च मिलना चाहिए |

राष्ट्रीय सैनिक संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीर चक्र  प्राप्त कर्नल तेजेंद्र पाल त्यागी ने संचालन करते हुए बताया की RCL  Gun  से टेंक को निष्क्रिय तो किया जा सकता है परन्तु RCL  Gun   भी दूसरी पोजीसन  लेने से पहले ध्वस्त कर दी जाती है | अब्दुल हमीद ने 6 पोजीसन बदली, 6 टेंको को निष्क्रिय किया, 7 वे टेंक को ध्वस्त करते समय शहीद हो गए | उन्होंने कहा  अब हम शहीद होकर नही बल्कि जिन्दा रहकर देश की सेवा करना चाहते है | दुश्मन से पहले उनकी जुबान पर नियंत्रण किया जाए जो पाकिस्तान के गुण गाते है | ऐसा होते ही हमारी शहादतो में कमी आ जाएगी |   मौलाना अंसार रजा ने कहा की सुरक्षा नेताओ को नही बल्कि सिपाही के परिवारों को मिलनी चाहिए | आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा की ये देश का दुर्भाग्य है की यहाँ के नेता शहीद को सर्वोच्च सम्मान नही देते | यदि यहाँ देश को तोड़ने की बात हो थी होती तो यहाँ राष्ट्रीय मिडिया मौजूद होता परन्तु इतने ऐतिहासिक , शानदार और प्रेरणादायक कार्यक्रम में मिडिया नदारत है |

कार्यक्रम में राष्ट्रीय सैनिक संस्था के सचिव कमाण्डर H S Sharma ,  Rajendra Baggasi , P P Singh  , Prof  Neelam Pawar , Smt Sandhya Tyagi  , Shree Satendra Yadav  , Smt Usha Rana सहित अनेको सदस्यों ने अपने विचार रखे|

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here