जिला के उद्यमियों की समस्याओं को हल करने के लिए गठित जिला स्तरीय ग्रीवेंस कमेटी की बैठक में उद्यमी एसोसिएशनों के आग्रह पर उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने गुरूग्राम के उद्योग विहार तथा सैक्टर- १४  के सामने डीआईसी क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने की मुहिम चलाने के आदेश दिए। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही गुरूग्राम नगर निगम द्वारा की जाएगी।
उद्यमियों की समस्याओं को हल करने के लिए जिला स्तर पर उपायुक्त की अध्यक्षता में गठित कमेटी की बैठक आईएमटी मानेसर स्थित एचएसआईआईडीसी कम्पलैक्स में आयोजित की गई। इस बैठक में उद्यमियों ने गुरुग्राम स्थित उद्योग विहार तथा सैक्टर- १४  के सामने डीआईसी क्षेत्र में बहुत ज्यादा अतिक्रमण होने का मामला उठाया। इस पर उपायुक्त ने कहा कि इस संबंध में नगर निगम को आदेश भेज दिए जाएंगे और चरणबद्ध तरीके से अतिक्रमण हटाया जाएगा। उद्यमी एसोसिएशन के प्रतिनिधियों ने उपायुक्त को बताया कि गुरुग्राम के उद्योग विहार में कुछ कंपनियों द्वारा अपनी कंपनी के सामने पेवमेंट को ऊंचा कर रखा है तथा सामने ग्रीन बैल्ट में पार्क बना रखा है। ऐसे में उन कंपनियों में आने वाले क्लायंट तथा अन्य विजिटर सड़क पर ही गाड़ी पार्क करते हैं, जिससे उद्योग विहार की सड़कों पर जाम जैसी स्थिति रहती है। उन्होंने मांग की कि ऊंची पेवमेंट को तुड़वाकर सड़क के बराबर किया जाना चाहिए ताकि वहां पर उन कंपनियों में आने वाले लोगों के वाहन खड़े किए जा सके।
गुरुग्राम के सैक्टर- ३७ के औद्योगिक क्षेत्र के प्रतिनिधि ने वहां से झुगियां तथा शराब के ठेके हटवाने की मांग की, जिस पर उपायुक्त ने कहा कि झुगियां हटाने की कार्यवाही नगर निगम द्वारा की जाएगी। शराब का ठेका यदि अवैध रूप से चलाया जा रहा होगा तो उसे भी हटाया जाएगा। उन्होंने कहा कि शराब के ठेके के आस-पास यदि नियमों का उल्लंघन करते हुए खुले में शराब पीना या अन्य कोई अनियमित्ता बरती जा रही होगी तो उस पर आबकारी विभाग तथा पुलिस विभाग की संयुक्त टीम कार्यवाही करेगी।
बैठक में उद्यमी एसोसिएशनों ने  अनीश टंडन नामक उद्यमी की बिजली निगम से संबंधित शिकायत का हवाला देते हुए कहा कि उद्योग तथा कॉमर्शियल गतिविधि चलाने वाले उद्यमियों पर बिजली निगम द्वारा पैनेल्टी लगाई गई है जोकि गलत है। उन्होंने बताया कि टंडन एक्सपोर्ट का काम करते हैं और उन्होंने अपनी फैक्टरी के उत्पाद प्रदर्शित किए हुए हैं ताकि ग्राहक उनको देखकर ऑर्डर बुक कर सके। बिजली निगम की एम एण्ड पी टीम ने उसकी फैक्टरी पर छापा मारा और अपने रिपोर्ट में लिख दिया कि वहां पर औद्योगिक तथा कॉमर्शियल दोनों तरह की गतिविधियां चलाई जा रही हैं। इसके लिए उस उद्यमी पर पैनेल्टी लगा दी गई जबकि वह औद्योगिक कनैक्शन के हिसाब से बिजली बिल अदा कर रहा है, जो कॉमर्शियल के लिए दिए जाने वाले एनडीएस कैटेगरी के बिजली कनैक्शन से ज्यादा होता है। उन्होंने सवाल उठाया कि जब उद्यमी ने एनडीएस (नॉन डोमेस्टिक सप्लाई) से ज्यादा का बिल भर दिया तो उसे पैनेल्टी थमाने की जरूरत नहीं थी। उनकी इस दलील पर उपायुक्त ने भी सैद्धांतिक सहमति जताई और कहा कि वे इस मामले को बिजली निगम के उच्च अधिकारियों के साथ टेकअप करेंगे। बैठक में बताया गया कि इस प्रकार के ४० मामलों में लगभग छह करोड़ रूपए की पैनेल्टी लगाई गई है।
उद्योग विहार में दिल्ली और गुरुग्राम की सीमा पर भारी मात्रा में कचरा इक्कट्ठा किए जाने का मामला भी उपायुक्त के समक्ष बैठक में रखा गया जिस पर उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए।
गुरुग्राम में सैक्टर- १४  के सामने बने आईडीसी क्षेत्र में भी अतिक्रमण होने का मामला उपायुक्त के समक्ष रखा गया। इस पर उपायुक्त श्री सिंह ने कहा कि नगर निगम के सहयोग से अतिक्रमण हटाओ अभियान चलाया जाएगा। साथ ही उपायुक्त ने बताया कि आईडीसी क्षेत्र में बारिश के बाद कुछ सड़कों को उद्यमियों की सहमति से चौड़ा व सुदृढ़ करने की योजना तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में वाहनों के लिए पार्किंग स्पेस उपलब्ध करवाकर कुछ क्षेत्र को  च्नो व्हीकल जॉन ज् बनाने का प्रस्ताव है लेकिन यह निर्णय १५ अगस्त के बाद जीआईए हाऊस में उद्यमियों के साथ बैठक करने के उपरांत ही लिया जाएगा। इसी प्रकार, आईडीसी क्षेत्र में प्रोप्रटी का यूज चेंज करवाने का निर्णय भी उसी बैठक में होगा।
इस अवसर पर हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी जे बी शर्मा व शक्ति सिंह, उप श्रम आयुक्त आर के सैनी, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के एसीई वाई एम मेहरा, हॉरट्रोन से अजय चौहान, एचएसआईआईडीसी के अतिरिक्त महाप्रबंधक ओ पी गोयल, प्रबंधक संजय कुमार, एजीएम सुभाष वत्स, दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम के कार्यकारी अभियंता जे पी दहिया व सचिन यादव, नगर निगम गुरुग्राम के एचडीएम जयबीर सिंह, चैम्बर ऑफ इंडस्ट्रीज से अशोक कोहली व कर्नल राज सिंगला, जीआईए के अध्यक्ष जे एन मंगला, मीवा के उपाध्यक्ष मनमोहन गैंड, महासचिव सुमन चौधरी भी उपस्थित थे।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here