हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि 15 अगस्त तक केएममपी चालू हो जाएगा और इसके बनने से आस पास औद्योगिक कॉरिडोर स्थापित होगा जिससे हजारों लोगों को रोजगार मिलेगा। लोक निर्माण मंत्री गुरुग्राम के सुल्तानपुर गांव में कम्युनिटी सेंटर व ग्राम सचिवालय का उद्घाटन करने उपरांत उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि जब राज्य में भाजपा सरकार आई तब फरूखनगर क्षेत्र की दो मुख्य मांगे थी जिनमें फरूखनगर ब्लॉक में कॉलेज की स्थापना तथा फरूखनगर शहर को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए बाईपास बनाना शामिल था। उन्होंने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने इस क्षेत्र की ये दोनो मांगे पूरी कर दी हैं। राव नरबीर सिंह ने बताया कि गुरुग्राम में नवनिर्मित लोक निर्माण विश्राम गृह के उद्घाटन अवसर पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने फरूखनगर ब्लॉक में एक कॉलेज खोलने की घोषणा कर दी थी। इस कॉलेज के लिए गांव सुल्तानपुर में साढ़े आठ एकड़ भूमि की पहचान कर ली गई है। उन्होंने बताया कि गांव सुल्तानपुर मे केएमपी एक्सप्रैस-वे की तरफ मत्स्य विभाग की जमीन स्थित थी और पंचायत की जमीन उसके पीछे पड़ती थी इसलिए इनकी अदला-बदली की गई है। उन्होंने कहा कि कॉलेज के लिए जमीन प्राप्त करने की सभी बाधाएं दूर हो चुकी हैं और इस वर्ष के अंत तक इस कॉलेज का निर्माण शुरू हो जाएगा।
राव नरबीर ने कहा कि फरूखनगर क्षेत्र के लोगों की दूसरी मांग बाईपास बनवाने की थी, जिस पर उन्होंने काम शुरू करवा दिया था। उन्होंने बताया कि पिछली सरकार द्वारा फरूखनगर में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण का सैक्टर काटने तथा बाईपास बनाने के लिए जमीन का अधिग्रहण किया था। वर्तमान सरकार ने उस जमीन अधिग्रहण को डिनोटिफाई करने की जब कार्यवाही शुरू की तब उनके आग्रह पर केवल बाईपास बनाने जितनी जमीन रख ली गई। राव नरबीर सिंह ने कहा कि बाईपास बनते बनते गऊशाला के पास आया तो गऊशाला प्रबंधन कमेटी ने एक करोड़ रूपये के मुआवजे की मांग की और धीरे धीरे उनकी मांग बढ़ती गई। आखिर में 3 करोड़ रूपये से ज्यादा पर सहमति भी बन गई ।
उसके बाद इस मामले में राजनीति शुरू हुई क्योकि विपक्षियों ने सोचा कि बाईपास बन जाएगा तो यह भाजपा सरकार की उपलब्धि होगी। उन्होंने बाईपास बनने से झज्जर के रास्ते रोहतक , हिसार, सिरसा तक के हज़ारों लोगों को गुरुग्राम आवागमन में सुविधा होगी। उन्होंने कहा कि अब इस मामले को भी हल कर लिया गया है। साथ ही बताया कि फरूखनगर बाईपास चार लेन का होगा और इस पर ऐसी शानदार स्ट्रीट लाइटें लगेंगी, जैसी कि प्रदेश के किसी नगरपालिका क्षेत्र में नही लगी होंगी।
लोक निर्माण मंत्री ने बताया कि पिछले लगभग साढ़े तीन वर्षों में वर्तमान भाजपा सरकार ने अकेले सुल्तानपुर गांव में लगभग डेढ़ करोड़ रूपये की लागत के विकास कार्य करवाए हैं, जिनमें से ज्यादातर पूरे हो चुके हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री मनोहर लाल को सौ प्रतिशत ईमानदार मुख्यमंत्री बताते हुए कहा कि अब प्रदेश में ‘सबका साथ सबका विकास’ की अवधारणा पर सरकार काम कर रही है। जिन क्षेत्रों जैसे कि पलवल, नूंह, सिरसा आदि में भाजपा के विधायक भी नही हैं वहां भी समान रूप से विकास के कार्य करवाए जा रहे हैं।
लोक निर्माण मंत्री ने उदाहरण देते हुए कहा कि नूंह जिला के  फिरोजपुर झिरका में पीने का पानी अच्छा नहीं है और वहां के लोगों की इस समस्या को समझते हुए सरकार ने 265 करोड़ रुपए की रैनीवेल योजना बनाई गई है जिसका शुभारंभ करने मुख्यमंत्री मनोहर लाल 14 जुलाई को वहां आ रहे हैं। इस योजना से फिरेाजपुर झिरका क्षेत्र के 80 गांवों को फायदा होगा। उन्होंने ये भी कहा कि पिछली कांग्रेस सरकार की तरह किसी क्षेत्र के साथ भेदभाव नही किया जा रहा । राव नरबीर सिंह ने कहा कि यहां के राजपूतों की ज्यादातर रिश्तेदारियां भिवानी जिले में हैं और भिवानी जाते समय कलानौर तक फोर लेन की अच्छी सडक़ मिलती तथा उसके बाद भिवानी जिले मे घुसते ही सडक़ सिंगल लेन की हो जाती तथा उसमें डेढ़-डेढ़ फुट के गड्ढे थे। भिवानी जिले में प्रवेश करते ही ऐसा लगता जैसे हिंदुस्तान से पाकिस्तान मे आ गए हैं।
ग्रामीणों द्वारा रखी गई मांगो पर राव नरबीर सिंह ने कहा कि  गांव कालियावास से सुल्तानपुर तक के  रास्ते को मार्केटिंग बोर्ड से टेकओवर करके लोक निर्माण विभाग द्वारा वहां पर सडक़ बनाई जा रही है जो अगले 20-25 दिन में बन जाएगी।। इसके अलावा, सुल्तानपुर से गांव मारकपुर तक के रास्ते पर भी सडक़ बनाने के लिए 2 से ढाई महीने में काम शुरू हो जाएगा।
उन्होंने लोगों से सीधा संवाद स्थापित करते हुए कहा कि आप अपने दिल पर हाथ रखकर पूछें कि‘क्या हमने पिछले साढ़े तीन वर्षों में मूलभूत ढांचे में सुधार करने और व्यवस्था परिवर्तन करने का प्रयास नही किया, क्या हमने पिछली सरकारों से ज्यादा विकास करवाने की कोशिश नही की’ । उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने विदेशों मे भारत का गौरव बढ़ाया। आज दूसरे देशों में रहने वाले भारतीयों का मनोबल बढ़ा है और उन्होंने स्वयं व्यवस्था परिवर्तन को स्वीकारा है। इसी प्रकार, फौजियों और किसानों की अहमियत हमारी सरकार ने बढ़ाई है। उन्होंने कहा कि जमींदार की आय दोगुनी बढऩी चाहिए, मोदी सरकार ने खरीफ फसल की लागत की तुलना में समर्थन मूल्य डेढ़ गुना बढ़ाकर किसानों को फायदा पहुंचाया है।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here