गुरुग्राम जिला में अब 6 जुलाई से 10 जुलाई तक घुमंतू जातियों के लोगों का विशेष आधार एनरोलमेंट करने का अभियान शुरू किया गया है। जिला की ज्यादातर  आबादी का आधार एनरोलमेंट  होने के बाद  अब राज्य सरकार ने   घुमंतू जातियों  के  सदस्यों का भी  एनरोलमेंट करने का निर्णय लिया है  ताकि  जिला में रहने वाला कोई भी व्यक्ति आधार कार्ड से वंचित ना रहे ।
इस अभियान को सफल बनाने के लिए अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह ने संबंधित अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें उन्होंने अधिकारियों को जिम्मेवारी सौंपी।  बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार  घुमंतू जातियों के सदस्यों का आधार के लिए इनरोलमेंट करने के लिए जिला के तीनों सब डिवीजनो में 20 आधार एनरोलमेंट किट लगाई गई है।
सतपाल मोयाल (9911457790) को एनरोलमेंट टीमों तथा घुमंतू जातियों की बस्तियों के बीच तालमेल करने की जिम्मेदारी दी गयी है। श्री सिंह ने बताया कि घुमंतू जातियों के सदस्यों का आधार एनरोलमेंट करने का यह अभियान प्रदेश के सभी 22 जिलों में चलाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नगर निगम गुरुग्राम के प्रत्येक वार्ड में रहने वाले घुमंतू जातियों के परिवारों के सदस्यों का एनरोलमेंट करने में निगम पार्षदों का सहयोग लिया जा रहा है।  इसी प्रकार, नगर पालिका तथा नगर परिषद क्षेत्रों में वहां के पार्षदों और  सचिवों का सहयोग लिया जाएगा। ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले घुमंतू जातियों जैसे गाड़िया लोहार आदि के सभी परिजनों का आधार एनरोलमेंट करने के लिए ग्राम पंचायतों तथा उस क्षेत्र के खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों से मदद ली जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा संबंधित एसडीएम को अपने अपने क्षेत्र में घुमंतू जातियों के सभी परिवारों के सदस्यों का आधार एनरोलमेंट सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी दी गई है। एसडीएम द्वारा समय-समय पर अपने क्षेत्र में आधार एनरोलमेंट अभियान की समीक्षा की जाएगी और जहां भी उनके हस्तक्षेप की आवश्यकता होगी, वे करेंगे।
अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह ने बताया कि नगर निगम क्षेत्र में इस विशेष आधार एनरोलमेंट अभियान में जो भी लॉजिस्टिक्स की आवश्यकता होगी वह नगर निगम द्वारा उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान से जुड़े सभी अधिकारियों का एक व्हाट्सएप्प  ग्रुप बनाया गया है ताकि उन में आपस में बेहतर तालमेल रहे। इसके साथ सभी नगर निगम पार्षदों, सरपंचों तथा जनप्रतिनिधियों से आग्रह किया गया है कि वे अपने अपने क्षेत्र में रहने वाले घुमंतू जातियों के परिवारों को इस बारे में सूचित करें और उनका आधार बनवाने के लिए एनरोलमेंट करवाने को प्रेरित करें। श्री सिंह ने कहा कि जरूरत पड़ी तो इस अभियान को सफल बनाने के लिए विद्यार्थियों और शिक्षकों का भी सहयोग लिया जाएगा परंतु जिला में रहने वाले घुमंतू जातियों के सभी सदस्यों का आधार एनरोलमेंट 10 जुलाई तक हर हाल में पूरा किया जाएगा ।
उधर दूसरी तरफ, नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव ने भी नगर निगम अधिकारियों को इस बारे में आदेश जारी कर दिए हैं जिसमें कहा गया है कि निगम क्षेत्र में रहने वाले घुमंतू जातियों की समूची जनसंख्या के आधार कार्ड बनाए जाने जरूरी है। उन्होंने इन आदेशों में नगर निगम के चारों जोनों के जोनल टैक्सेशन अधिकारियों (जेड टी ओ )को इस मामले में अतिरिक्त उपायुक्त सिंह के संपर्क में रहने और उन से तालमेल करने की हिदायत भी दी है।  साथ ही जेडटीओ का सहयोग करने के लिए सिटी प्रोजेक्ट ऑफिसर और स्वच्छता के असिस्टेंट इंजीनियर को भी हिदायत दे दी गई है जो घुमंतू जातियों के लोगों की पहचान करने में और निर्धारित समय सीमा में उनका आधार एनरोलमेंट करवाने में सहयोग देंगे। निगमायुक्त ने यह प्रक्रिया शनिवार और रविवार को भी जारी रखने के आदेश दिए हैं।
निगमायुक्त द्वारा इस कार्य के लिए मुख्यालय के जोनल टैक्सेशन अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है जो प्रतिदिन आधार पर अतिरिक्त उपायुक्त आर के सिंह तथा एडिशनल मुंसिपल कमिश्नर वाई एस गुप्ता  को रिपोर्ट देंगे। सभी संयुक्त आयुक्त अपने अपने अधिकार क्षेत्र में इस अभियान की मॉनिटरिंग करेंगे।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here