गुरुग्राम मेें प्रदूषण पर नियंत्रण करने के लिए मानसून के मौसम में सडक़ो के साथ खाली जमीन को हरा-भरा बनाने का प्रोजैक्ट तैयार किया गया है।
इस बारे में जानकारी देते हुए उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि रोड़ साईड पर ग्रीनरी करने का प्रोजैक्ट तैयार किया गया है जिसके तहत सडक़ के किनारे घास लगाई जाएगी ताकि सडक़ किनारे से धूल ना उड़े। उन्होंने बताया कि ऐसा करने से वायुमण्डल में पीएम 2.5 से पीएम 10 तक के धूल के कण नही उठेगे। इसके अलावा, बिल्डिंग कन्स्ट्रक्शन साईटों पर प्रदूषण नियंत्रित रखने के उपाय अपनाए जाने सुनिश्चित किए जाएगे। इसके लिए नगर निगम, हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा संबंधित विभागों की टीम कन्स्ट्रक्शन साईटो पर जाकर चैक करेंगी और जुर्माना भी लगाएगी। उन्होंने बताया कि इन विभागो द्वारा पिछले साल भी जुर्माना किया गया था लेकिन इस बार जिला प्रशासन द्वारा इस विषय को और गंभीरता से लिया गया है।
स्वच्छता के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में उपायुक्त ने बताया कि गुरुग्राम की स्वच्छता रैंकिंग में सुधार हुआ है। उन्होंने बताया कि स्वच्छता के आंकलन में इस बात के भी नंबर होते हैं कि नागरिक कितने जागरूक हैं। सिंह ने कहा कि जिन पैरामीटरो में गुरुग्राम इस बार पिछड़ गया था उनकी पहचान कर ली गई है और उन पर अभी से ही कार्य शुरु कर दिया गया है ताकि अगले वर्ष गुरुग्राम की स्वच्छता रैंकिंग में और अधिक सुधार हो।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here