आधुनिक तकनीक के साथ किस तरह मक्का के उत्पादन को बढ़ाया जा सकता है और पॉल्ट्री उद्योग के साथ चिकन के व्यापार को कैसे बढावा दिया जा सकता है, इसके लिए थाईलैंड की सीपी फ़ूड्स कंपनी के साथ उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने गुरूग्राम के लीला होटल में अहम बैठक की। इस बैठक में सीपी फ़ूड्स ने चीन सहित कई देशों में चल रहे अपने पॉल्ट्री फार्म पर एक प्रजटेंशन दिया कि किस तरह उन्नत तकनीक से मक्का का उत्पादन बढाने के साथ मुर्गी पालन और चिकन के व्यापार में कंपनी ने सफलता हासिल की है ।

इस बैठक में उद्योग विभाग के डायरेक्टर अशोक सांगवान और अतिरिक्त मुख्य सचिव देवेंद्र सिंह भी मौजूद रहे । थाईलैंड की फूड प्रोसेसिंग कंपनी सीपी फूड्स ने दावा किया कि उन्नत तकनीक से सिंचाई के लिए कम पानी का इस्तेमाल करते हुए मक्का का उत्पादन बढाया जा सकता है और किसानों को वो ट्रेनिंग के लिए भी ले जा सकते हैं जहाँ पहले से उनका पोल्ट्री उद्योग स्थापित है । कंपनी ने सोनीपत के आस पास के क्षेत्र में इसके लिए मिट्टी जाँच कर सर्वे अभी करवाया है । उद्योग मंत्री विपुल गोयल ने कहा कि कंपनी को 15 दिन में अभी हरियाणा के अन्य क्षेत्रों में मिट्टी जाँच करके और ये आँकड़ा देने को कहा गया है कि प्रति एकड़ किसानों को कितनी वार्षिक आय मक्का की खेती से हो सकती है । उन्होने कहा कि पर्याप्त अनुसंधान के बाद अगली बैठक चंडीगढ़ में मुख्यमंत्री मनोहर लाल के साथ होगी । विपुल गोयल ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने के लिए उन्हे आधुनिक खेती की ओर ले जाना वक्त की जरूरत है ।

 

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here