पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार तथा उपायुक्त विनय प्रताप सिंह आईएमटी मानेसर के वीपीएस रॉकलैंड अस्पताल में उपचाराधीन जापानी कंपनी के एचआर मैनेजर दिनेश शर्मा का हाल-चाल जानने पहुंचे। दिनेश शर्मा पर वीरवार को उन्ही की कंपनी के एक बर्खास्त कर्मचारी ने गोली चलाई थी। अब चिकित्सको द्वारा दिनेश शर्मा की स्थिति खतरे से बाहर बताई गई है।
इस मौके पर मीडिया प्रतिनिधियों से बातचीत करते हुए उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने एचआर मैनेजर दिनेश शर्मा पर गोली चलाने की घटना को दुखद बताया और कहा कि इस मामले में राज्य सरकार संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि यह मामला श्रमिक विवाद से उपजा हुआ मामला नहीं है बल्कि एक व्यक्तिगत घटना है, जो दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि इस तरह ही घटना भविष्य में ना हो, इसके लिए  श्रम विभाग जागरूक होकर तथा और प्रो-एक्टिव होकर श्रमिक एसोसिएशनो तथा कंपनी प्रबंधन से बात करके आपसी सहमति से इस प्रकार के मसलो को हल करने का प्रयास करेगा। उन्होंने यह भी कहा कि हरियाणा प्रदेश विशेषकर  गुरुग्राम में श्रमिकों और प्रबंधन के बीच संबंध ठीक रहें, इस दिशा मेंभी श्रम विभाग कोशिश करेगा।
इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए पुलिस आयुक्त संदीप खिरवार ने भी कहा कि एचआर मैनेजर दिनेश शर्मा पर गोली चलाई गई और भगवान का शुक्र  है कि वे बच गए।  घायल दिनेश शर्मा का तत्काल ईलाज करने के लिए उन्होंने वीपीएस रॉकलैंड अस्पताल का भी धन्यवाद किया। उन्होंने आशा जताई कि दिनेश शर्मा जल्द ही स्वस्थ होकर अस्पताल से डिस्चार्ज हो जाएंगे। साथ ही पुलिस आयुक्त ने बताया कि इस घटना में शामिल दो संदिग्ध व्यक्तियों दयाचंद और जोगेंंद्र को पुलिस द्वारा गिरफतार कर लिया गया हैI
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here