हरियाणा प्रदेश की विभिन्न जेलो में योग में रूचि रखने वाले बंदियो को गुरुग्राम जिला की भौंडसी जेल में प्रशिक्षण देकर ‘योग गुरु’ बनाया जाएगा। इसके बाद इन्हें इनकी जेलो में भेज दिया जाएगा और ये वहां पर बंदियों को मुख्य प्रशिक्षक के रूप में योग का प्रशिक्षण देंगे।
इस संबंध में जानकारी यहां भौंडसी जेल परिसर में  आयोजित एक कार्यक्रम में हरियाणा कारागार महानिदेशक के सेलवराज द्वारा दी गई। इंडिया वीजन फाउडेशन, पंचवटी योग आश्रम तथा नेचर क्योर सैंटर द्वारा भौंडसी जेल में 45 दिवसीय ‘बंदी योग प्रशिक्षण कार्यक्रम’ शुरु किया गया है जिसका शुभारंभ पुदुचेरी की उपराज्यपाल एवं इंडिया वीजन फाउडेशन की संस्थापक डा. किरण बेदी तथा कारागार हरियाणा के महानिदेशक के सेलवराज ने संयुक्त रूप से किया। 
सेलवराज ने बताया कि हरियाणा प्रदेश की विभिन्न जेलो में योग में रूचि रखने वाले बंदियो को गुरुग्राम जिला की भौंडसी जेल में स्थानांतरित किया गया है। इन सभी बंदियों को जेल के एक विशेष बैरेक में रखा गया है और इन्हें सुबह से शाम तक येाग का सघन प्रशिक्षण दिया जाएगा। इन बंदियो को योग प्राणायाम,ख् ध्यान तथा नेती, धोती आदि क्रियाओं के बारे मेें विस्तार से बताया जाएगा तथा इन्हें समय बद्धयता के  साथ आसन और प्राणायाम के साथ-साथ क्लास रूम में योग के बारे में विस्तृत जानकारी दी जाएगी। भौंडसी जेल के अधीक्षक जयकिशन छिल्लर, जो स्वयं भी एक राष्ट्रीय स्तर के योगी रहे हैं, की देखरेख में यह योग प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया जाएगा। यहां से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद योग गुरु बने बंदियो को वापिस उनकी जेलो में भेजा जाएगा, जहां पर वे मुख्य प्रशिक्षक के रूप में अन्य बंदियो को योग का प्रशिक्षण देंगे। उन्होंने बताया कि प्रशिक्षण पूरा होने पर सभी बंदियो को एक सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा ताकि वे जेल से बाहर जाने के बाद योग करवाने की सेवा दे सकें।
हरियाणा कारागार के महानिदेशक के सेलवराज ने बताया कि जेलो में बंदियों को योग का प्रशिक्षण देने का उद्देश्य है कि हरियाणा की सभी जेल ‘योग युक्त हों-अपराध मुक्त हों ’। उन्होंने कहा कि योग से ना केवल शरीर की बिमारियों की रोक थाम की जा सकती है बल्कि बहुत सारी बिमारियों का उपचार भी हो जाता है। योग से बंदियों की मानसिकता में भी बदलाव आएगा। बंदियों के योग प्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा तैयार करने तथा उसका संचालन करने के लिए श्री सेलवराज ने डा. किरण बेदी एवं उनकी संस्था इंडिया वीजन फाउंडेशन की निदेशक मोनिका धवन तथा पंचवटी योग आश्रम का आभार जताया। उन्होंंने हरियाणा की सभी जेलो में योग कक्षाएं निरंतर जारी रखने की घोषणा भी की।
इस मौके पर पुदुचेरी की उपराज्यपाल डा. किरण बेदी ने जेल के लगभग 1,500 बंदियों को संबांधित करते हुए योग के महत्त्व पर प्रकाश डाला और कहा कि योग से न केवल अपने शरीर को निरोग रख सकते हैं बल्कि अपने विचारों में सकारात्मक बदलाव लाकर अपने जीवन को सफल बना सकते हैं। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन योग करने वाला व्यक्ति अपराध की दुनिया में दोबारा प्रवेश नहीं करेगा। डा. बेदी ने सभी बंदियों से संकल्प लिया कि वे जिंदगी में हमेशा योग करेंगे। उन्होंने बताया कि उनकी इंडिया वीजन फाउंडेशन जेल में बंदियों के सुधार के लिए विभिन्न कार्यक्रम चला रही है जिनमें शामिल होकर बंदी अपने सकारात्मक सदगुणों को अपनाकर अन्य सुधार कर सकते हैं ओर बेहत्तर इंसान बन सकते हैं।
आशुतोष जी महाराज, जो पंचवटी योग आश्रम के संस्थापक हैं, ने कार्यक्रम में सभी बंदियों को योग भी करवाया। पंचवटी योग आश्रम के द्वारा चलाए जा रहे इस पुनर्वास कार्यक्रम के माध्मय से कैदियों को कुशल योग शिक्षक बनाकर उनके लिए  रोजगार के अवसर तैयार किए जाएंगे। इस प्रकार की पहल प्रदेश में पहली बार गुरुग्राम जिला की भौंडसी जेल में की गई है।
इस अवसर पर जिला रैडक्रॉस सोसायटी के सचिव श्याम सुंदर शर्मा, शरद गोयल तथा जिला जेल के सभी अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here