हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने अपने गुरुग्राम स्थित आवास पर जनता की समस्याएं सुनते हुए एनपीआर के रास्ते में जीपीए धारकों के जो मकान या प्लॉट आ रहे हैं, उनके बदले में सैक्टर में प्लॉट उपलब्ध करवाने के आदेश दिए हैं।
गुरुग्राम में नदर्न पैरिफेरियल रोड़, जिसे द्वारका एक्सप्रेसवे भी कहा जाता है, का निर्माण काफी समय से अधर में इसलिए अटका हुआ था क्योंंकि उसके रास्ते में कुछ मकान तथा मलकियत की जमीन व प्लॉट आ रहे थे। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के प्रशासक चंद्र शेखर खरे ने इस मामले को सुलझाने के लिए प्लॉट  धारकों व मकान मालिकों से कई बैठके की। कुछ लोग न्यायालय में भी गए। राव नरबीर सिंह से आज उनके निवास पर एनपीआर के रास्ते में जिन लोगों के प्लॉट अथवा मकान आ रहे हैं, उनका प्रतिनिधि मण्डल मिला। इस मामले में राव नरबीर सिंह ने तत्काल नगर निगम के संयुक्त आयुक्त तथा एचएसवीपी के संपदा अधिकारी मुकेश सोलंकी से इस बारे में जानकारी हासिल की और उन्हें इस दिशा में तत्काल कार्यवाही करने के आदेश दिए।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here