गांव घैंघोला में चल रहे सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की नई इमारत का निर्माण अंतिम चरण में है।। लगभग 4 करोड़ की लागत से तैयार किये गए इस केन्द्र की इमारत के  तैयार होने से गांव घैंघोला व आस-पास के क्षेत्र की बड़ी आबादी को लाभ होगा।
यह जानकारी सोहना के एसडीएम सतीश यादव ने दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा गांव घैंघोला में वर्ष-2015 में इस सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के भवन के पुर्ननिर्माण की घोषणा की गई थी, जो पूरी होने जा रही है। यह सीएचसी भवन लगभग 5,800 स्क्वेयर मीटर एरिया में तैयार किया गया है जो बनकर लगभग तैयार हो चुका है और जल्द ही हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल इसका उद्घाटन करने के लिए पहुंचेंगे। उन्होंने बताया कि यह नया सीएचसी भवन 50 बिस्तरों का है जिसमें मरीज़ो को  इलाज की सुविधा मिलेगी। यहां मरीज़ों को एमरजेंसी सर्विसिज़, डिलीवरी हट, टीकाकरण सुविधाएं, ड्राइविंग लाइसैंस के लिए मैडिकल, आम्र्स लाइसैंस, माइनर सर्जिकल सर्विसिज़, मैडिकोलिगल केसिज़, लैबोरेट्री, डैंटल व एक्स-रे सहित विभिन्न प्रकार की आधुनिक व नवीनतम स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाएंगी। उन्होंने बताया कि यह स्वास्थ्य केन्द्र आसपास के ग्रामीणों को चिकित्सा सुविधाएं मुहैया करवाने में काफी मददगार साबित होगा। सोहना के अंतिम छोर के गांव में होने के कारण इस सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का लाभ मेवात व पलवल जिला की सीमाओं से लगते गांवों के लोगों को भी मिलेगा। ऐसे में इस सीएचसी का लाभ सोहना के अलावा, मेवात व पलवल जिला के लोगों को भी होगा।
उन्होंने कहा कि इसमें कोई शक नही है कि पिछले काफी समय से सोहना उपमंडल के दूर दराज के ग्रामीण क्षेत्र में स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव रहा है, इस सीएचसी के नए भवन के पूरा होने और उसमें आधुनिक सुविधाएं जुटाने से लोगों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेंगी। उन्होंने बताया कि इस आधुनिक सीएचसी के खुलने से सोहना के नागरिक अस्पताल में भी मरीज़ो का दबाव कम होगा और लोगों को ईलाज के लिए एक और विकल्प मिल जाएगा।
अगर सोहना के नागरिक अस्पताल की बात की जाए तो यहां रोजाना 350 से 400 मरीज ओपीडी में आ रहे हैं। इस प्रकार, यहां प्रत्येक माह लगभग 12 हज़ार मरीजो ओपीडी में आ रहे हैं। इस प्रकार, यहां प्रत्येक माह लगभग 90 हज़ार मरीजो की ओपीडी है। यहां मरीजों को एमरजेंसी वार्ड, डिलीवरी हट , पोस्टमॉर्टम सहित कई स्वास्थ्य सुविधाएं दी जाती है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॅा. एम पी सिंह ने बताया कि गुरुग्राम जिला में फिलहाल तीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र-फरूखनगर, पटौदी व घैंघोला में चल रहे हैं। इसके अलावा, 10 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, 18 अर्बन प्राइमरी हैल्थ सैंटर, 81 सब-सैंटर, उपमंडल स्तर पर दो नागरिक अस्पताल सोहना व पटौदी में, दो डिस्पेंसरी सैक्टर-4 व 7 में तथा गुरूग्राम शहर में एक नागरिक अस्पताल बस-स्टैंड के निकट तथा दूसरा सैक्टर-10ए में चल रहा है।
उपायुक्त विनय प्रताप सिंह के अनुसार गुरुग्राम जिला में जहां स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए लोगों को महंगी दरों पर ईलाज करवाना पड़ता हैं, ऐसे में सोहना के लोगों को वहीं अपने घर के निकट ही सस्ती व अच्छी स्वास्थ्य सुविधाएं मिलेगी। पिछले काफी समय से स्वास्थ्य सुविधाओं से अभावग्रस्त रहे सोहना उपमंडल में इस सीएचसी की इमारत शुरू होने से लोगों को बड़े पैमाने पर लाभ होगा। उन्होंने कहा कि यह इमारत को अंतिम रूप दिया जा रहा है और जल्द ही इसका उद्घाटन किया जाएगा।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here