खसरा रूबेला अभियान के तहत 28 मई से लेकर 2 जून तक गुरुग्राम जिला के 6 अस्पतालों में विशेष अभियान चलाया जाएगा। यह जानकारी गुरुग्राम के उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आर आर जोवल के साथ आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में दी।
उपायुक्त ने बताया कि जिला गुरुग्राम में खसरा-रूबेला अभियान के तहत लगभग 85 प्रतिशत  स्कूली बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है। जो बच्चे इस दौरान छूट गए हैं उन्हें कवर करने के लिए जिला के 6 अस्पतालों में स्वास्थ्य विभाग की टीम जाकर यह अभियान चलाएगी। उन्होंने बताया कि 28 मई से  लेकर 2 जून तक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा जिन 6 अस्पतालों में यह विशेष अभियान चलाया जाएगा उनमें पारस अस्पताल, कोलंबिया एशिया,मेदांता द मेडिसिटी, मैक्स अस्पताल, आर्टेमिस तथा फोर्टिस अस्पताल शामिल है।  इन अस्पतालों में प्राात: 9 बजे से दोपहर 2 बजे तक बच्चों को टीके लगाए जाएंगे।
उपायुक्त ने बताया कि अब तक आउटरीच एरिया में बच्चों के टीकाकरण के लिए भी विशेष अभियान चलाया जा रहा है जिला में अब तक  आउटरीच एरिया में रहने वाले 1,22,333 बच्चों का टीकाकरण किया जा चुका है जो कि निर्धारित लक्ष्य का 78.1 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत जिला में 1,07,129 बच्चे ऐसे हैं जिन्हें खसरा रूबेला बीमारियों से बचाव के लिए टीकाकरण किया जाना है जिसके लिए मोप अप सेशन लगाए जा रहे हैं। उपायुक्त ने बताया की जिला की झुग्गी झोपडिय़ों तथा श्रमिकों के बच्चों के टीकाकरण के लिए भी स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा वहां जाकर सेशन लगाए जाएंगे।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में अतिरिक्त मुख्य सचिव आर आर जोवल ने डेंगू, डायरिया तथा मलेरिया जैसी बीमारियों से बचाव के लिए भी उपायुक्त को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।  उन्होंने कहा कि आगामी दो-तीन महीने डेंगू, मलेरिया व डायरिया जैसी बीमारियों के लिहाज से अत्यंत संवेदनशील है इसलिए जरूरी है कि वह समय रहते आवश्यक इंतजाम कर लें।
प्राइवेट अस्पतालों मे बनाए गए ब्लड बैंको द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक राशि वसूले जाने पर निर्देश देते हुए जोवल ने सीएमओ को निर्देश देते हुए कहा कि जो ब्लड बैंक सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक मूल्य पर मरीजों को ब्लड उपलब्ध करवाए उसका लाइसेंस तुरंत प्रभाव से कैंसिल कर दे। उन्होंने कहा कि अस्पतालों या क्लीनिक आदि में बनाए गए ब्लड बैंकों को अपने यहां डिस्प्ले बोर्ड पर ब्लड की सूची निर्धारित मूल्य के साथ लगाना अनिवार्य है। उन्होंने सिविल सर्जन से कहा कि यदि कोई हस्पताल इस बारे में लापरवाही बरते तो उसका लाइसेंस कैंसिल करने में किसी प्रकार की ढिलाई ना करें।
मिशन इंद्रधनुष की समीक्षा करते हुए जोवल ने बताया कि प्रदेश के 235 गांव में मिशन इंद्रधनुष के तहत टीकाकरण अभियान 24 से 31 मई तक चलाया जाएगा। उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि जिला के लोहसिंघनी तथा जखोपुर गांव में यह टीकाकरण अभियान चलाया जाएगा जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में उपायुक्त विनय प्रताप सिंह के अलावा उप-सिविल सर्जन डॉक्टर नीलम थापर, डॉ एम पी सिंह, सीडीपीओ नेहा सहित कई अधिकारीगण उपस्थित थे।
delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here