हरियाणा पर्यावरण प्रबंधन समिति (एचईएमएस) की कार्यकारिणी की मानेसर स्थित एक होटल में हुई 15वीं वार्षिक बैठक के दौरान कार्यसमिति के कार्यों की समीक्षा की गई। समिति के प्रेसिडेंट प्रवीण कुमार की अध्यक्षता में हुई बैठक में समिति के सचिव विजय कुमार ने वार्षिक लेखा जोखा प्रस्तुत किया। बैठक में उपस्थित सदस्यों ने टीएसडीएफ साइट संचालक (जीईपीआईएल) से होने वाली समस्याओं से अवगत कराया। इस पर समिति के प्रधान व सचिव ने इन समस्याओं का उचित तरीके से निस्तारण करने का आश्वासन दिया।

समिति की बैठक का मुख्य मुद्दा पिछले तीन साल के वित्तीय वर्षों के दौरान समिति के खातों का लेखा-जोखा प्रस्तुत करना और उनका अनुमोदन कराना कराना था। इस दौरान वित्तीय वर्ष 2014-15 व 2015-16 के खातों का सर्वसम्मति से अनुमोदन करने के साथ उन्हें पास किया गया। समीक्षा के दारान समिति द्वारा पाया गया कि वित्तीय वर्ष 2016-17 के दौरान दो मदों में जारी किए गए चैक पर संदेह व्यक्त करते उसका अनुमोदन रोक दिया गया। इसमें दो चैक क्रमश: 25 लाख व 32 लाख 85 हजार 760 रुपए के सुनीता देवी के नाम जारी किए गए हैं। वहीं 82 हजार 443 रुपए नकद जारी किए गए हैं। यह समस्त धनराशि जारीकर्ता से वसूल करने और इसके खिलाफ उचित कार्रवाई करने का निर्णय लिया गया। बैठक के दूसरे एजेंडे में एच गंभीर एंड कंपनी को वित्तीय वर्ष 2017-18 के लिए ऑडिटर नियुक्त किया गया। समिति की बैठक शांतिपूर्ण संपन्न हुई और बैठक मेें उपस्थित सभी पदाधिकारियों को संबोधित करते प्रैसिडेंट प्रवीण कुमार ने कहा कि हेम्स का मुख्य लक्ष्य पर्यावरण संरक्षण के प्रति लगातार सकारात्मक प्रयास करना है और समिति आस्था और निष्ठा के साथ इस कार्य का निर्वहन करती रहेगी। बैठक में समिति के उप प्रधान सुरेन्द्र कुमार बत्रा, कोषाध्यक्ष रमेश चंद, अतिरिक्त कॉलिजियम सदस्य मनोज पांडे, पवन यादव, शिव प्रकाश केसान, देवेन्द्र कम्बोज, भूपेन्द्र पाल सिंह, संदीप यादव, सीए नितिन अनेजा आदि उपस्थित रहे।

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here