जिला के तीन राजकीय विद्यालयों में ‘कैंडर गुडग़ांव टू डैव्लपरर्स एंड प्रौजेक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड’ नामक कंपनी विद्यार्थियों को कम्प्युटर शिक्षा उपलब्ध करवाने के लिए कंप्युटर लैब तथा कंप्युटर शिक्षक की सुविधा देगी। इस बारे मे  जिला प्रशासन द्वारा इस कंपनी के साथ एक एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं।
जिला प्रशासन की तरफ से स्वयं उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने समझौते पर हस्ताक्षर किए जबकि कंपनी की तरफ से उसके प्रतिनिधि संजय यादव द्वारा हस्ताक्षर किए गए हैं। इस समझौते के अनुसार यह कंपनी सीएसआर के तहत जिला के तीन राजकीय विद्यालयों में 3 साल तक कम्प्युटर शिक्षा की सुविधा उपलब्ध करवाएगी। इन स्कूलों में राजकीय उच्च विद्यालय कांकरौला, राजकीय उच्च विद्यालय इस्लामपुर तथा राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बुढेड़ा शामिल हैं। इन विद्यालयों में बच्चों को कम्प्यूटर की शिक्षा देने के लिए अध्यापकों की नियुक्ति भी कंपनी द्वारा की जाएगी और बच्चों को 60 कम्प्युटर उपलब्ध करवाए जाएंगे अर्थात् प्रत्येक स्कूल में 20 कंप्युटर लगाए जाएंगे ताकि हरियाणा सरकार की डिजीटाइजेशन योजनाओं को गति प्रदान की जा सके। कंपनी को जिला प्रशासन की संतुष्टि के अनुरूप सुविधा प्रदान करनी होगी। समझौते के अनुसार दोनों में से कोई भी पक्ष दो महीने का नोटिस देकर समझौते को खत्म कर सकता है।
कंपनी के प्रतिनिधि संजय यादव के अनुसार उनकी कंपनी द्वारा सीएसआर के तहत पिछले वर्ष भी हेलीमण्डी तथा पटौदी के लड़कियों के स्कूलों में कंप्युटर शिक्षा की सुविधा देनी शुरू की गई थी। इन्हें मिलाकर कंपनी द्वारा अब जिला के 5 स्कूलों में विद्यार्थियों को कंप्युटर शिक्षित किया जाएगा।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter, delhincrnews.in 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here