आज यशोदा हॉस्पिटल एवं रिसर्च सेंटर, नेहरु नगर, गाजियाबाद द्वारा हापुड़ रोड, गाजियाबाद स्थित मदर डेयरी फ्रूट एंड वेजिटेबल प्लांट में प्लांट कर्मियों के लिए “स्वस्थ फेफड़े स्वस्थ जिंदगी का आधार” विषय पर एक हेल्थ टॉक का आयोजन किया, इस टॉक को को यशोदा हॉस्पिटल के वरिष्ठ स्वास एवं एलर्जी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर बृजेश प्रजापत ने संबोधित कियाI
डॉ बृजेश प्रजापत ने बताया कि हम हमेशा बाहर के प्रदूषण या वायु प्रदूषण के बारे में चिंतित रहते हैं किंतु हमारे घर का या हम जहां काम करते हैं वहां का प्रदूषण भी हमारे लिए उतना ही हानिकारक हैI उन्होंने बहुत छोटी-छोटी चीजों के बारे में बारीकी से बताया जिनमें घर में होने वाले प्रदूषण से बचाव के तरीके, अपने फेफड़ों को स्वस्थ रखने के तरीके एवं नियमित दिनचर्या में हम प्रदूषण से कैसे बच सकते हैं इनके बारे में विस्तार से समझायाI
उन्होंने बताया कि मच्छर भगाने के लिए यूज होने वाली क्वायल का उपयोग घर में बिल्कुल ना करें एक क्वायल 140 सिगरेट के बराबर धुआं छोड़ती है – यह उन्होंने खुद अपनी रिसर्च में साबित किया है, इसी प्रकार से घर में विभिन्न पूजाओं में यूज होने वाली धूपबत्ती, अगरबत्ती, हवन सामग्री आदि  का धुआँ भी बहुत हानिकारक होता है, अगर हम धूपबत्ती की बात करें तो धूपबत्ती का धुआं 80 सिगरेट के बराबर होता है, उन्होंने ऐसे में सलाह दी कि यदि घर के अंदर हम अगरबत्ती या धूप बत्ती हवन सामग्री जलाते हैं तो उसके बाद हमें कम से कम 8 घंटे के लिए अपने घर की सभी खिड़कियों को खोल करके रखना चाहिए तथा घर के अंदर प्रॉपर वेंटिलेशन होना चाहिए; घर की खिड़कियों को प्रतिदिन 2 से 4 घंटे खुले रखने की उन्होंने सलाह दी जिस से क्रॉस वेंटिलेशन हो और और डस्ट माईट या धूल का कीड़ा जिसे समाप्त किया जा सकेI उन्होंने यह भी बताया कि अगर आपके घर में किसी भी हिस्से में धूप आती हो तो उस हिस्से को ज्यादा से ज्यादा धूप आने दे क्योंकि धूप से ज्यादातर जीवाणु या कीटाणु मर जाते हैं
अपने घर के पर्दों मैट कालीन आदि को समय-समय पर साफ करते रहना भी बहुत जरूरी है उन्होंने बताया कि यदि आपके पास खड़े होकर कोई सिगरेट पी रहा है तो आपको 5 सिगरेट का धुआ आपके अंदर जा रहा है और अगर आप खुद सिगरेट पी रहे हैं और आप उन्हीं कपड़ो को पहन कर के अगर आप घर जा रहे हैं तो आप अपने बच्चों एवं घर के अन्य सदस्यों को हम स्मोकिंग के हानिकारक प्रभाव से ग्रसित कर रहे हैं इस हेल्थ टॉक के आयोजन में  गौरव पांडे,  प्रदीप,  संदीप का मुख्य योगदान रहाI

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here