केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, जे पी नड्डा ने आज कहा कि प्राइवेट हेल्थ केयर देश में रेगुलेटेड होना चाहिए और कोई भी अस्पताल अनरेगुलेटिड ना हो। नड्डा गुरुग्राम के डिएल एफ फेस 3 में नवनिर्मित नारायणा हेल्थ सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का उद्घाटन करने आए थे। इस मौके पर हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह भी उनके साथ मौजूद थे।

अपने संबोधन में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री, जे पी नड्डा ने स्पष्ट रूप से कहा कि देश में प्राइवेट हेल्थ केयर रेगुलेटेड होना चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने मॉडल क्लीनिकल इस्टैब्लिशमेंट एक्ट बनाया है। राज्य सरकारें या तो उस एक्ट को अपनाएं या फिर विधानसभा में अपना कानून पारित करें परंतु कोई भी प्राइवेट अस्पताल अन रेगुलेटेड नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि देश में अफोर्डेबल, लो कॉस्ट, हाई क्वालिटी हेल्थ केयर उपलब्ध करवाने की जरूरत है और उनका मानना है कि नारायणा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल इस कसौटी पर खरा उतरेगा। उन्होंने यह भी कहा कि अन्य बड़े अस्पतालों की तुलना में नारायणा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल कम से कम 40% कम खर्च पर बेहतरीन इलाज की सुविधाएं उपलब्ध करवाएगा, ऐसा उन्हें विश्वास है।

नंदा ने अपने संबोधन में प्राइवेट अस्पतालों को दो महत्वपूर्ण सुझाव दिए। एक कि अस्पताल अपने यहां काउंसलर रखें जो चिकित्सक और मरीज के बीच तालमेल का काम करें ताकि मरीज को किसी प्रकार की गलतफहमी ना हो। दूसरा, मरीज को दाखिल करने के समय ही प्राइवेट अस्पताल उसके इलाज पर होने वाले पूरे खर्चे के बारे में मरीज को बताएं जिसमें प्रक्रिया, टेस्ट आदि सभी चीजें शामिल हो ताकि बाद में मरीज को इलाज के खर्चे काबिल देख कर झटका ना लगे। मरीज को दाखिल होने के समय ही पता लग सके कि उसके संपूर्ण इलाज पर कितना खर्च आएगा, उसके बाद उस अस्पताल में इलाज उसे करवाना है या नहीं करवाना है यह उसके विवेक पर निर्भर करेगा। ऐसा करने से प्राइवेट अस्पतालों की लोगों में विश्वसनीयता बढ़ेगी।

उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न योजनाओं का विस्तार से ब्योरा दिया और कहा कि सरकार अफोर्डेबल, सभी के पहुंच के दायरे में तथा उत्तम हेल्थ केयर की सुविधा लोगों को मुहैया करवाने की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने स्नान करवाया कि सरकार द्वारा हॉट में डाले जाने वाले स्टंट और नी कैप की कीमतें हटाई गई है। सरकार प्राइवेट हेल्थ केयर संस्थानों को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है, उन्हें अलग-थलग नहीं छोड़ना चाहती। उन्होंने कहा कि सरकार कि प्रधानमंत्री डायलिसिस योजना में प्राइवेट संस्थानों ने सहयोग दिया। देश में 500 डायलिसिस केंद्र चल रहे हैं जिन्होंने लगभग ढाई लाख मरीजों को सुविधा पहुंचाई। इन केंद्रों में 13 लाख से ज्यादा डायलिसिस के सत्र हुए। इस योजना में मशीन और नेफ्रोलॉजिस्ट की सेवाएं प्राइवेट सेक्टर द्वारा उपलब्ध करवाई गई।

इसी प्रकार प्रधानमंत्री मातृत्व सुरक्षा योजना में प्राइवेट अस्पतालों की लगभग 4,500 स्त्री रोग विशेषज्ञ सरकारी अस्पतालों में फ्री सेवाएं दे रही हैं। इन विशेषज्ञों ने लगभग ढाई लाख हाई रिस्क मरीजों की पहचान की और उनका इलाज भी किया। उन्होंने कहा कि 5 वर्ष से कम आयु में बच्चे की मृत्यु होने के मामलों में भारत में विश्व दर से भी ज्यादा तेज गति से कमी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि सरकार प्रिवेंटिव अर्थात बचाव के पक्ष पर भी ध्यान दे रही है। इसके लिए देश के डेढ़ लाख हेल्थ सब सेंटर को वेलनेस सेंटर में परिवर्तित किया जाएगा। पिछले वर्ष 4,000 सब सेंटर वेलनेस सेंटर बनाए गए और इस साल 18,000 सब सेंटरों को वेलनेस सेंटर में तब्दील किया जाएगा। इन सेंटरों में 30 वर्ष की आयु प्राप्त करने पर व्यक्ति की यूनिवर्सल स्क्रीनिंग की जाएगी जिसमें हाइपरटेंशन, ब्लड प्रेशर तथा विभिन्न प्रकार के कैंसरों की जांच होगी ताकि प्रारंभिक स्तर पर ही पता लगने से बीमारी को और बढ़ने से रोका जा सके। उन्होंने आयुष्मान योजना का विलय किया जिसके तहत देश में 10 करोड़ निर्धन परिवारों को हर वर्ष प्रति परिवार ₹5 लाख तक की चिकित्सा सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इससे लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आएगा। उन्होंने कहा कि यह योजना हेल्थ केयर के मामले में विश्व में सबसे बड़ी योजना है।

इस कार्यक्रम में हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने संबोधित करते हुए  कहा कि गुरुग्राम में बड़े कॉर्पोरेट अस्पताल तो बहुत हैं लेकिन वे गरीब परिवारों की पहुंच से बाहर हैं। उन्होंने नारायणा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के संचालकों से अपील की कि वे गरीबों को मुफ्त नहीं तो रियायती दरों पर इलाज की सुविधा मुहैया करवाएंगे तो लोगों का विश्वास बना रहेगा।
कार्यक्रम में नारायणा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर देवी प्रसाद शेट्टी, वाइस चेयरमैन तथा ग्रुप सीईओ डॉ आशुतोष रघुवंशी सहित कई गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

delhincrnews.in reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here