15 अप्रैल, दिन रविवार को सामाजिक समरसता मंच के तत्वावधान में बाबा साहब भीमराव राम अम्बेडकर की जयंती के उपलक्ष्य में नंदग्राम, ग़ाज़ियाबाद में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया।
इस कार्यक्रम में मुख्य वक़्ता के रूप में संतप्रकाश जाटव ने अपने विचार लोगों के समक्ष रखे। उन्होंने कहा की देश को एक षड्यंत्र के तहत पूर्व में बँटा गया और इसी प्राकार से पुनः षड्यंत्रकारी फिर से देश को जात पात के नाम पर बाँटने की कोशिश में लगे हुए हैं।हम सभी आपस में भाई भाई हैं और सभी को एक जुट होकर इन सब समस्याओं को समाप्त करना है, और सामाजिक समरसता बनाए रखने का आग्रह किया।
साथ ही इस गोष्ठी में वीरबहादुर, प्रवीर, मनमीत, प्रमोद, रामगोपाल, धीरज, और विभिन्न जातियों के प्रमुख व्यक्ति और संत समाज के संत भी रहे। इस गोष्ठी से समाज में समरस्ता और समाजिक एकता का संदेश दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here