बहनों पर बहुत जिम्मेवारियां होती हैं, घर-परिवार और मेहमानों को संभालती हैं, नौकरी व व्यवसाय करते हुए भी भक्ति करती हैं। उनका भक्ति भाव दुनियां की भौतिकता को छोड़ कर मानवता के प्रेम में निहित हो जाता है। उक्त उदगार सतगुरु माता सविंदर हरदेव जी महाराज की अनन्या भक्त दिल्ली साउथ की एडिशनल जोनल इंचार्ज बहन अनीता महाजन ने यहां स्थानीय सैक्टर-31 के संत निरंकारी सत्संग भवन में आयोजित महिला संत समागम के दौरान उपस्थित मानव परिवार को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये।

उन्होंने कहा कि बहने अपने दायित्वों को निभाकर ही भक्ति करती हैं और भक्त की सेवा अपने घर-परिवार से ही प्रारंभ होती है। प्रभु भक्ति परमपिता परमात्मा की जानकारी और इसके एहसास से शुरू होती है और निष्काम भाव से की गई सेवा ही प्रफुलित होती है। उन्होंने कहा हमें अपने-अपने कर्तव्यों का पालन बोझ समझ कर नहीं बल्कि दायित्व के रूप में करना है, किन्तु-परन्तु को छोड़ कर सतगुरु माता सविंदर हरदेव जी महाराज की शिक्षाओं को सत-सत कर स्वीकार करना है। सतगुरु की कृपा से ही ईश्वरीय ज्ञान होने के बाद जाति, वर्ण, धर्म के भेदभाव मिट जाते हैं और आपस में प्रेम, शांति और एकत्व का रूप बनता है। यह तभी सम्भव होता है जब हमें यह एहसास हो जाता है कि हम सब एक ही परमपिता परमात्मा की संतान हैं, इसी एहसास से सबकी सेवा करनी है। परमात्मा का आधार और सतगुरु के प्रति समर्पण ही सहजता का मूल होता है, सहजता से जीवन सकून वाला हो जाता है।

उन्होंने कहा कि घर में केवल एक महिला ही यदि प्रभु भक्ति से जुडी होती है तो पूरा परिवार उससे प्रेरित होकर प्रभु से जुड़ता है और उस घर में स्वर्ग का वातावरण बन जाता है। हमारा घर महिला से ही स्वर्ग बनता है तथा महिलाओं के उत्थान से ही समाज उच्च्चाईयों को छूता है। इस तरह जीवन प्रेम और सकून में बीत जाता है व अन्यों को भी खुशियां मिलती हैं। दिल्ली महरौली से यहां पहुंची बहन अनीता महाजन ने उपस्थित प्रभु भक्तों की गुरमत के उसूलों को अपनाये रखने की सराहना करते हुए कहा कि यहां की बहनों में सत्संग के प्रति बहुत उत्साह है। उन्होंने यही प्रार्थना व शुभकामना दी कि सभी मानवता के रास्ते पर चलें और धरती को सुन्दर रूप देने में योगदान दें।

समागम में पटौदी, घामडोज, चक्करपुर, पालम विहार, गुरुग्राम एवं आस-पास के स्थानों से आए भक्तजन शामिल हुए। समागम में अनेक बहन वक्ताओं ने हिन्दी, अंग्रेजी और हरियाणवी भाषा में अपने भक्ति भरे भाव व्यक्त किए। समागम में भजन, सामूहिक गीत, कविता, विचार एवं लघु नाटिकाओं द्वारा निरंकारी मिशन व सतगुरु के संदेश को प्रसारित किया।

दिल्ली साउथ जोन के जोनल इंचार्ज एम सी नागपाल की ओर से गुरुग्राम की बहन वेद रहेजा ने दिल्ली से आई बहन अनीता महाजन का स्वागत करते हुए, आये हुए प्रभु भक्तों के प्रति कृतज्ञता व्यक्त की। महिला समागम की सफलता का श्रेय सभी बहनों को दिया। समागम में मंच संचालन बहन रश्मि ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here