साल से अधूरे पड़े द्वारका एक्सप्रेस-वे का इतंजार अब खत्म होता दिखाई दे रहा है। सोमवार को द्वारका एक्सप्रेस वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत सिंह से दिल्ली में मुलाकात की। पदाधिकारियों ने एक्सप्रेस-वे का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों करवाने की पहल का स्वागत किया। इसके लिए उन्होंने केंद्रीय मंत्री का आभार व्यक्त किया।
द्वारका वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष यशीश यादव ने केंद्रीय मंत्री से जल्द से जल्द शिलान्यास करवाने की अपील की। उन्होंने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस-वे के निर्माण से करीब दो लाख परिवारों को फायदा होगा। इस पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस-वे से जुड़ी सभी अड़चनों को प्राथमिकता से दूर किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि गुरुग्राम के एक्सप्रेस-वे से जुड़े विवादों को जल्द निपटा लिया जाएगा। इसके लिए संबंधित एजेंसियों रोडमैप के साथ काम कर रही हैं। उन्होंने कहा दिल्ली में एक्सप्रेस-वे की जमीन को अधिग्रहित करने के लिए आखिरी नोटिफिकेशन प्रकाशित किए जा चुके हैं। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) जल्द ही अधिग्रहण की प्रकिया शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि द्वारका एक्सप्रेस-वे का निर्माण पांच पैकेज में किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और प्रधानमंत्री कार्यालय के निरंतर संपर्क में हैं। गौरतलब हो कि द्वारका एक्सप्रेस-वे का निर्माण 2010 में पूरा होना है। इस मौके पर प्रशांत झा, नवदीप यादव, अंकित बोहरा, सोहन घोष, मुनीष, श्याम शर्मा मौजूद रहे।
– कैसे होगा निर्माण: (एनएच-248 बीबी)
पैकेज-1
-5.3 किलोमीटर: शिवमूर्ति से रेल अंडर ब्रिज
पैकेज-2
-4.2 किलोमीटर: रेल अंडर ब्रिज-दिल्ली-हरियाणा बार्डर
पैकेज-3
-10.2 किलोमीटर: दिल्ली हरियाणा बार्डर-बसई आरओबी
पैकेज-4
7.9 किलोमीटर: बसई आरओबी से खेड़की दौला टोल प्लाजा
पैकेज-5 
-आईजीआई एयरपोर्ट से एक्सप्रेस-वे को कनेक्ट किया जाएगा
मुख्य बिंदु
-7,000 रु करोड़ की धनराशि खर्च होगी
-30 किलोमीटर का है एक्सप्रेस-वे
-18.9 किलोमीटर गुरुग्राम में बनेगा
-10.1 किलोमीटर हिस्सा दिल्ली में
-एक्सप्रेसवे के साथ 3 लेन सर्विस होगी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here