भारत सरकार के उपक्रमों एवं अखिल भारतीय एमएसएमई ईकाइयों के बीच हुए करोड़ा रूपये के कई व्यापारिक समझोतों व बिजनेस लाइन अप से कई नये आयाम विकसित हुए हैं, जिसके फलस्वरूप अरबों रुपयों का विनिवेश प्रत्यक्ष व परोक्ष में होने में कोई संदेह नहीं है।
उक्त उदगार मेजर सिंह निदेशक ने एमएसएमई विकास संस्थान करनाल, एमएसएमई मन्त्रालय, भारत सरकार के तत्वावधान में एचएसआईआईडीसी परिसर मानेसर (गुरुग्राम) में हो रहे राष्ट्रीय स्तर के वेंडर विकास प्रोग्राम एवं टेस्टिंग, कैलिब्रेशन, इंस्ट्रूमेंटेशन और सम्बंधित प्रोडक्ट्स पर  औद्योगिक प्रदर्शनी 2018 के दूसरे दिन समापन समारोह में व्यक्त किये। सिंह ने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य एमएसएमई सेक्टर का न केवल विकास है बल्कि मार्केटिंग का मार्गदर्शन करते हुए वित्तीय पोषण करना भी है। एस.पी गरनायक, मुख्य महा प्रबंधक उर्जा मंत्रालय भारत सरकार ने बताया की भारत सरकार का लक्ष्य 2025 तक सौर उर्जा पर आत्मनिर्भर होना है जिसको मूर्तरूप देने में एमएसएमई का बहुत बड़ा योगदान हो सकता है और इस कार्य को करने में व्यापार और जीडीपी में अभूतपूर्व विकास की अपार संभावनायें हैं।
एस. के. बरेजा संयुक्त निदेशक एवं हैड राष्ट्रीय सीमेंट एवं भवन सामग्री परिषद फरीदाबाद ने कहा के राष्ट्र्र के आधारभूत संरचना विकास में एमएसएमई की अहम् भूमिका है और इस अवसर का इस क्षेत्र को सम्पूर्ण फायदा उठाना चाहिए। रामपाल सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक, एचएसआईआईडीसी ने बताया के हरियाणा सरकार की एस्टेट पॉलिसी के तहत एमएसएमई की इंफ्रास्ट्रक्चर विकास में आने वाली सभी समस्याओं का समाधान करने के लिए उनका विभाग कृतसंकल्प है ।
इस कार्यक्रम के दौरान योगेश कुमार, वरिष्ठ अभियंता भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड ने उनके विभाग द्वारा वर्ष पर्यंत होने वाले क्रय-विक्रय का विवरण देते हुए वेंडर विकास एवं वेंडर रेटिंग के बारे में विस्तृत वक्तव्य दिया। इसके साथ साथ हेमंत कुमार मेनेजर (कॉन्ट्रैक्ट्स) नेशनल पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड, अरुण चोपड़ा, मेनेजर (सामग्री) इंडियन आयल पानीपत रिफाइनरी, एस. के. जैन गवर्नमेंट ई-मार्केटिंग, अजित भटनागर एएसआरटीयू, जी.के. राव, उप महा प्रबंधक राष्ट्रीय थर्मल पॉवर कारपोरेशन, विशाल मेनेजर राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड, अमरजीत सिंह, डीजल कॉम्पोनेन्ट वर्क्स पटियाला, इति सक्शेनाउप निदेशक क्वालिटी कौंसिल ऑफ इंडिया, परविंदर मालिक पॉवर ग्रिड कारपोरेशन ऑफ इंडिया, दिविक साहनी स्माल इंडस्ट्रीज डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया, प्रेम विश्वास डिप्टी कमांडेंट, बॉर्डर सिक्यूरिटी फोर्सेज, ने भी अपने अपने उपक्रमों के क्रय विक्रय की जानकारी देते हुए पब्लिक प्रोक्योरमेंट पालिसी के कार्यान्वयन पर बल दिया तथा वेंडर विकास और इस से सम्बंधित विषयों में आने वाली हर संभव समस्या के समाधान का भरोसा दिलाया। ककार्यक्रम का समापन ए.के. नेहरा, कार्यकारी सदस्य एसोसिएशन ऑफ इंडियन लैबोरेट्रीज के वोट ऑफ थैंक्स अभिभाषण के साथ हुआ।
-Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here