हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि राज्य में बनाए में जा रहे कुंडली-मानेसर-पलवल (केएमपी) मार्ग के दोनों ओर एक-एक किलोमीटर के अंदर तक ढांचागत विकास किया जाएगा ताकि दोनों ओर विभिन्न प्रकार के उद्योगों, व्यवसायों व अन्य प्रकार की गतिविधियों को सृजित किया जा सकें ताकि अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मुहैया हो सकें। उन्होंने कहा कि केएमपी हरियाणा राज्य में 180 किलोमीटर तक पड़ता है और जबकि यह मार्ग उत्तर प्रदेश में 80 किलोमीटर हैं। इस लिहाज से राज्य सरकार हरियाणा में इस मार्ग के दोनों ओर 360 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र को विकसित करेंगी।
मुख्यमंत्री ने यह जानकारी गुरुग्राम में हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं अवसरंचना विकास निगम कार्यालय के आडिटोरियम में राष्ट्रीय एप्रेंसटिसशिप प्रोमेाशन योजना एवं सक्षम साथी इकाईयों को सम्मानित करने के लिए आयोजित किए गए एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि संबोधित करते हुए दी।
उन्होंने कहा कि हरियाणा नित नए दिन उपलब्धियां हासिल कर रहा हैं और राज्य ने ईज आफ डूईंग बिजनेस में 99.19 प्रतिशत के स्कोर के साथ पहले स्थान पर छलंाग लगा दी हैं और अभी इस श्रेणी में मूल्यांकन किया जा रहा है और अभी तक हरियाणा नंबर एक पर बना हुआ है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में राज्य ईज आफ डूईंग बिजनेस में 14वें स्थान पर था जबकि वर्ष 2016 में 6वें स्थान पर आया और अब वर्ष 2018 में आज के दिन तक यह पहले स्थान पर आ पहुंचा हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उद्योग जगत को प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार ने उद्योगों को स्थापित करने के लिए लाईसेंस और क्लीयरेंस देने के लिए सिंगल विंडो सिस्टम स्थापित किया हैं जिसके तहत 45 दिनों के भीतर क्लीयरेंस देने होते हैं यदि 45 दिनों में यह क्लीयरेंस नहीं मिलते हंै तो इन क्लीयरेंसों को डिम्ड कलीयरेंस दिया जाता है। मुख्यमंत्री ने बताया कि अभी हाल ही में केवल व मात्र 7 दिनों के भीतर 1600 उद्योगों को क्लीयरेंस दिए हैं, जो अपने आप में एक उपलब्धि हैं।
उन्होंने कहा कि गुरुग्राम और फरीदाबाद में भी विकास कार्य करवाए जा रहे हैं क्योंकि गुरुग्राम और फरीदाबाद बडे शहर हैं तथा राज्य सरकार द्वारा हर प्रकार की सुविधाएं देने का प्रयास किया जा रहा है। इस अवसर पर उद्योग मंत्री विपुल गोयल, गुरूग्राम के विधायक, उमेश अग्रवाल, पटौदी की विधायक बिमला चौधरी, मुख्य सचिव डीएस ढेसी, गुरुग्राम की मेयर मधु आजाद, हरियाणा उद्योग विभाग के प्रधान सचिव, सुधीर राजपाल, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के प्रधान सचिव टी सी गुप्ता, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के निदेशक अशोक कुमार मीणा, हरियाणा राज्य कौशल विकास विश्वविद्यालय के कुलपति राज नेहरू, जिला भाजपा अध्यक्ष, भूपेन्द्र चौहान, गुरुग्राम के आयुक्त, डी सुरेश, पुलिस आयुक्त, संदीप खिरबार, उपायुक्त, विनय प्रताप सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter
Feature pic is representational

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here