राजकीय महाविद्यालय सैक्टर 9 में चल रहे एनएसएस शिविर के चतुर्थ दिवस पर विद्यार्थियों ने बसई गांव के लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया। गांव के 172 लोगों ने एच बी, मधुमेह जांच के लिए अपने रक्त का नमूना दिया। गुरुग्राम के वरिष्ठ चिकित्सक डाॅ. जयदीप के निर्देशन में एनएसएस की यूनिट एक और दो के छात्र-छात्राओं ने गांववासियों को निरंतर स्वास्थ्य जांच के लिए प्रेरित किया।

डाॅ. जयदीप ने कहा कि स्वास्थ्य हमारी सबसे मूल्यवान पूंजी है। यदि हम
शारीरिक और मानसिक तौर पर स्वस्थ है तो हमसे अधिक धनवान व्यक्ति कोई नहीं है। हमें अपने शरीर की निरंतर जांच करवाते रहना चाहिए। यदि हम अपने
खान-पान के प्रति जागरूक हो जाएं तो कोई भी बीमारी हमारे नजदीक नहीं आ
सकती। महाविद्यालय की प्राचार्या डाॅ. सुशीला कुमारी ने विद्यार्थियों और
ग्राम वासियों को प्रेरित करने के लिए अपने रक्त का नमूना स्वास्थ्य जांच
के लिए दिया। उन्होंने कहा कि यदि शरीर स्वस्थ है तो मन स्वस्थ है। हम
अपने कत्र्तव्यों का पालन शरीर की सहायता से ही करते हैं। इस शरीर की
देखभाल करना हमारा परम धर्म होना चाहिए। उन्होंने विद्यार्थियों और
प्राध्यापकों को होली त्यौहार की शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि होली
आपसी प्रेम और भाईचारे का त्यौहार है। हमें प्राकृतिक रंगों का प्रयोग
करते हुए सद्भावना से यह त्यौहार मनाना चाहिए। पानी को व्यर्थ बहाना
प्रकृति की हानि करना है। इसलिए होली पर पानी व्यर्थ न करें।
इस मौके पर प्रोग्रामिंग आॅफिसर डाॅ. प्रवीण सिंह और डाॅ. ललिता गौड़ ने
विद्यार्थियों के अनुशासन और कठिन मेहनत की भरपूर प्रशंसा की। इस अवसर पर जसवंत, खेमचंद, राजीव, सौरभ, साक्षी, प्रगति, काजल सहित सभी
विद्यार्थियों ने जीवनभर समाज की सेवा करते रहने का संकल्प लिया।

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here