संजयनगर सैक्टर 23 स्थित रामकिशन इंस्टीटयूट सीनियर सैकेन्डरी बालिका विधालय परिसर में भारत के प्रदेशो की बेजोड सांस्कृतिक विरासत को छात्रो ने प्रदर्शनी लगाकर सबको भावविभोर की दिया। सुबह स्वदेश यात्रा थीम पर आधारित इस प्रदर्शनी का उदघाटन पब्लिक स्कूल फेडरेशन के चेयरमेन सुभाष जैन ने परम्परागत रूप से दीप प्रज्जवलित कर किया। खास बात यह है कि देश के 29 राज्यो की सांस्कृतिक विरासत और कला को राज्यवार स्टाॅल के जरिये दमदार ढंग से प्रदर्शित किया गया।
विदेशो में भारतीय संस्कृति का परचम लहराने वाले स्वामी विवेकानन्द के विचारो के साथ साथ कन्याकुमारी में बने  स्मारक भी कला के माध्यम से शानदार ढंग से दिखाया गया। इसके अलावा ओम की ध्वनि की सार्थकता भारतीय पर्वो का महत्व वेदो से जुडी भारतीयता और देश के विभिन्न धर्मो के महत्व व धर्मनिर्पेक्षता को भी नन्हे उस्तादो ने नाटय रूपान्तर के जरिये पेशकर प्रदर्शनी में मौजूद दर्शको को भावविभोर कर दिया।
इस मौके पर मुख्यअतिथि सुभाष जैन ने कहा की इस प्रकार के आयोजन से देश भक्ति का जज्बा तो बढता ही है, साथ ही भारतीय संस्कृति के महत्व को परखने में मदद मिलती है। इसी क्रम में आरकेआई के निदेशक आलोक गर्ग ने कहा कि इस्र प्रदर्शनी का उददेश्य युवा पीढी में देश भक्ति की अलख जगाना तो है ही, साथ ही बच्चो के हुनर को तराशना भी है। प्रधानाचार्या डा मालती गर्ग ने कहा कि जिस मेहनत से बच्चो ने स्वदेश यात्रा प्रदर्शनी को प्रदर्शित किया है उसके लिए छोटे बच्चे और मार्ग दर्शन करने वाले शिक्षक बधाई के पात्र है।  इस मौके पर विभिन्न स्कूलो के प्रशासनिक व प्रबन्धकीय अधिकारी भी इस खास पल के साक्षी बने , जिनमें नरेन्द्र चैधरी, गुलशन भाम्बरी, सरदार जोगेन्द्रसिंह, हर्ष गर्ग आादि प्रमुख रूप से मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here