केंद्रीय योजना एंव उर्वरक व रसायन राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने सांसद आदर्श गांव योजना के तहत गांव खेडा की विकास योजनाओं को लेकर अधिकारियों से चर्चा की। उन्होंने केंद्र सरकार की योजना के तहत चयन किए गए सांसद आदर्श गांव की योजनाओं को अगले वर्ष अप्रैल तक पूरा करने के निर्देश दिए। गांव में एचएआरडीएफ योजना के तहत करीब 50 लाख रूपए की राशि से विकास कार्य जारी है वहीं बुधवार को हुई बैठक में करीब सवा चार करोड की योजनाओं को मंजूरी दी गई। बैठक में अतिरिक्त उपायुक्त प्रदीप दहिया ने दिल्ली स्थित नीति आयोग के कार्यालय में आदर्श ग्राम की योजनाओं की प्रस्तुति केंद्रीय मंत्री के समक्ष की।
केंद्रीय मंत्री को सांसद आदर्श ग्राम खेडा की विकास योजनाओं से अवगत कराते हुए अतिरिक्त उपायुक्त ने बताया कि गांव में पीने के पानी की व्यवस्था के लिए करीब 42 लाख रूपए की योजना पर कार्य किया जा रहा है। गांव में खारे पानी के होने की वजह से गांव के पास स्थित दूसरे गांव की भूमि से गांव को मीठे पानी की सप्लाई की योजना को तैयार किया गया है। गांव में करीब दो लाख की लागत से सोलर लाईट, दो करोड से अधिक की राशि से गांव की गलियों व नापी निकासी के रास्ते बनाने ू बस क्ये सेल्टर बनाने, एससी चौपाल बनाने व ग्राम सचिवालय बनाने की योजनाओं को को मंजूरी दी गई।
केंद्रीय मंत्री ने गांव में स्वच्छ भारत अभियान के तहत नालियों के पानी को साफ कर उसे खेती के लिए प्रयोग करने की व्यवस्था करने के निर्देष अधिकारियों को दिए।  उन्होंने अधिकारियों से कहा कि गांव में लोगों के स्वास्थय जांच को लेकर विभाग की टीम भेजने व पशुओं की बिमारियों से संबंध में पशु चिकित्सकों  को माह में एक बार शिविर लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीणों को पशुपालन से संबंधित जानकारियां अधिक से अधिक उपलब्ध करवाएं ताकि गांव की महिलाओं की आमदनी को बढ़ाया जा सके। केंद्रीय मंत्री ने ऊंचा माजरा गांव में खोले जाने वाले केंद्रीय विद्यालय के संबंध में भी अधिकारियों से रिपोर्ट तलब कि और कहा कि वे केंद्र सरकार के पत्र के अनुसार अस्थाई तौर पर कक्षाएं लगाने व स्टाफ के रहने की व्यवस्था की रिपोर्ट एक सप्ताह में उपलब्ध करवाएं।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here