गुड़गाँव की मिड डे मील कर्मियों का ज़िला सम्मेलन कमला नेहरू पार्क में आयोजित किया गया। सम्मेलन में आई कर्मियों को संबोधित करते हुए सीआईटीयू के ज़िला सचिव कामरेड राजेन्द्र सरोहा ने अपने उदघाटन भाषण में कहा कि मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार न केवल परियोजनाओं को बर्बाद करने पर तुली है बल्कि तमाम मज़दूरों व मेहनतकश जनता पर भी बड़ा हमला बोल रही है। इसी बीच केन्द्र सरकार ने अपना बजट पेश किया है। देश की 25 लाख मिड डे मील वर्कर्स को उम्मीद थी कि इस बजट में वर्कर्स के मानदेयवेतन में बढ़ौतरी होगी। परन्तु मोदी सरकार ने धोखेबाजी की है। इसका जवाब हमें बड़े आन्दोलनों के दम पर ही देना होगा।

इस बीच 17 जनवरी परियोजनाकर्मियों की देषव्यापी हड़ताल हुई, हम सब जानते हैं कि हड़ताल का कई दिन पहले फैसला हो चुका है। इसमें सभी ट्रेड यूनियनों से संबंधित परियोजना वर्कर शामिल थी। इसे लेकर व्यापक तैयारी की गई, हड़ताल के नोटिस भी दिए गए। हड़ताल में सभी 21 जिलो से मिड डे मील कर्मियों कि बड़ीहिस्सेदारी रही। कामरेड सरोहा ने आगे कहा कि सदस्यता करने के काम को प्रमुखता से लिया जाना चाहिए। इसके चलते सरकार इस योजना पर जबरदस्त ढ़ंग से हमले कर रही है। योजना को पंचायतों को देना व ठेके पर देना इसी का परिणाम है।

सम्मेलन कि कार्यवाही करते हुये पुरानी कमेटी को भंग कर नई कमेटी का चुनाव किया गया जिसमे मूर्ति देवी सहजावास को ज़िला प्रधान चुना गया तथा उपाध्यक्ष कौशल्या सुखराली,उपाध्यक्ष राजबाला कासन,सचिव गीता आनन्दस्वरूप गार्डन, सहसचिव सुशीला गाड़ौली कला,सहसचिव बबीता पहाड़ी,कोषाध्यक्ष सलोचना आनन्दस्वरूप गार्डन, तथा बिमला बादशाह पुर , बबिता भीमगढ़ खेड़ी, सन्तोष चंदू, पूनम नरसिंहपुर, शारदा पथरेडी सदस्य के रूप में चुनी गई। मिड डे मील वर्कर्ज यूनियन हरियाणा का तीसरा राज्य सम्मेलन 29-30 मार्च 2018 को कैथल में होगा।

Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here