राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग प्रचारक शिव कुमार ने स्कूल के शिक्षकों से अपील की है कि बच्चों को संस्कार देने पर ज्यादा जोर दें, क्योंकि बेहतर संस्कार और समाज के लिए कुछ करने की शिक्षा से ही बेहतर भविष्य का निर्माण होता है। शिव कुमार ने विधार्थियों को भी संस्कार व्यवस्था के बारे में बताया।
वे कन्हैई गांव के सेवा केंद्र के वार्षिकोत्सव के कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि बच्चों में शुरू से ही शिक्षा के साथ – साथ समाज के प्रति जिम्मेदारी की भावना भरी जानी चाहिए। शिक्षकों द्वारा दी गयी शिक्षा ही बच्चों के भविष्य की दिशा तय करती है , इसलिए ये जरुरी है कि शिक्षक अपने देश का भविष्य बेहतर बनाने के लिए संस्कार और जिम्मेदारी का अहसास भी विद्यार्थियों को कराएं।  इस मौके पर चीफ मिनिस्टर एसोसिएट गुंजन ने विशिष्ठ अतिथि के रूप में बोलते हुए कहा कि सरकार बेहतर शिक्षा देने के हर प्रबंध करने में लगी है।  इग्नू के डॉक्टर अजित कुमार ने भी अपना सम्बोधन रखा।
कार्यक्रम में ऐसे बच्चे भी शामिल हुए जिन्होंने पहले कभी स्कूल ही नहीं देखा था।  इन बच्चों के माता पिता को भी कार्यक्रम में विशेष रूप से आमंत्रित किया गया ताकि बच्चों को शिक्षा कितनी जरुरी है ये समझाया जा सके।  इस अवसर पर हरयाणवी नृत्य, मंत्रोचारण के साथ दीप प्रज्वलन और हिंदी अंग्रेजी गानों की बच्चों ने प्रस्तुति दी।  कार्यक्रम में   गीता, पूनम, अंजलि, प्रिया, बरखा, पुलकित , अमृत  विशेष रूप से उपस्थित रहे और भारत माता की आरती की गयी।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here