पर्यावरण मंत्रालय ने 25 जनवरी 2018 को पर्यावरण सुरक्षा एक्ट 1986में 11 नियम जोड़ दिए हैं जिनका पालन करना अनिवार्य होगा। अब किसी भी योजना को अपने निर्माण स्थल तक जाने के लिए पक्की सड़क बनाना अनिवार्य होगा। मिट्टी, रेतअथवा निर्माण सामग्री को ढक कर रखना और भवन की ऊंचाई के एक तिहाई  तक विंडस्क्रीन लगाना भी अनिवार्य होगा। इतना ही नहीं सरकारी और गैर सरकारी  निर्माण मेंनिर्माण सामग्री का सड़क पर भंडारण निषेध है।यह सब नियम उन शहरों पर लागू है जिनमें PM 2.5 का स्तर 40 से अधिक है।

गाजियाबाद में 2.5 का स्तर औसतन स्तर 200 से अधिक रहता है।इसलिए गाजियाबाद के प्रत्येक निर्माण स्थल का निरीक्षण किया जाना अनिवार्य है। निर्माण स्थल निरीक्षण टीम में कम से कम  एक प्रतिनिधि फ्लैट ऑनरफेडरेशन का भी रखा जाए।प्रत्येक जोन के लिए अलग-अलग समितियां गठित की जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here