जरुरतमंद महिलाओं के लिए सैनेटरी नेपकिन बनाने और उन्हें उपलब्ध करने के लिए नि:स्वार्थ कदम संस्था को गणतंत्र दिवस के अवसर पर सरकार द्वारा सम्मिनत किया गया। कार्यक्रम में हरयाणा के शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा ने संस्था के अध्यक्ष प्रमोद राघव और महासचिव अरविन्द सैनी को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मिनत किया। रामबिलास शर्मा ने सम्मानित करते हुए संस्था के अध्यक्ष व् महासचिव को कहा कि जल्दी ही निस्वार्थ कदम संस्था द्वारा बनाई जा रही सेनेटरी नेपकिन स्कूलों में छात्राओं को वितरित किये जाने की योजना पर काम करेंगे। संस्था के अध्यक्ष प्रमोद राघव ने भी शिक्षा मंत्री द्वारा स्कूलों में सेनेटरी नेपकिन बांटे जाने के कार्यक्रम में निस्वार्थ कदम संस्था को जोड़े जाने की योजना का स्वागत किया है।
समाज उत्थान के अनेक कार्य करते हुए संस्था ने  राष्ट्रपति द्वारा गोद लिए गांव दौहला से महिला सशक्तिकरण के लिए नि:स्वार्थ कदम के बैनर तले  सेनेटरी नेपकीन बनाने का केन्द्र स्थापित किया है ताकि यहां कि ग्रामीण महिलाओं को रोजगार मिले और महिलाएं ही सेनेटरी नेपकीन बनाकर ग्रामीण महिलाओं को उपलब्ध कराएं ताकि वे स्वस्थ्य रह सकें। अनेक गरीब ग्रामीण महिलाओं  को रोजगार मिला हुआ है। जबकि सैंकड़ों ग्रामीण महिला स्वस्थ लाभ उठा रही है।  निःस्वार्थ कदम संस्था से जुड़ी टीम लगातार न केवल इन सेनेटरी नेपकिन्स के प्रयोग के प्रति गाँवों व कंपनियों में जागरूकता प्रोग्राम कर उन्हें सेनेटरी नेपकिन के प्रयोग के लिए प्रोत्साहित करती है बल्कि जरूरतमंद महिलाओं को ये निःशुल्क वितरित भी की जा रही है।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here