हरियाणा के लोक निर्माण मंत्री राव नरबीर सिंह ने कहा कि अर्धसैनिक बल सीमा पर तैनात रहते हैं, तभी देशवासी चैन की नींद सो पाते हैं। उन्होंने कहा कि देश की सुरक्षा में अर्धसैनिक बलों का बहुत बड़ा योगदान है। राव नरबीर सिंह गुरुग्राम में हरियाणा प्रदेश ही नही बल्कि पूरे देश में अपनी तरह के पहले ऑल इंडिया एक्स पैरामिल्ट्रिी पर्सनल वैल्फेयर ऑफिस का उद्घाटन करने उपरांत उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे। इस उद्घाटन अवसर पर हरियाणा ही नही उत्तर प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली के अर्धसैनिक बलों के पूर्व सैनिक व अधिकारी उपस्थित थे, जिन्होंने गुरुग्राम में कार्यालय खुलवाने के लिए राव नरबीर सिंह का आभार व्यक्त किया।
अपने संबोधन में राव नरबीर सिंह ने कहा कि अर्धसैनिक बलों के जवान देश की सीमाओं पर विषम परिस्थितियों मे ड्यूटी पर तैनात रहते हैं। उन्ही की बदौलत हम सभी लोग चैन से रह पाते हैं। उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बलों के जवानों की वजह से ही हम जिंदा है और जिन मुसीबतों को वो झेलते हैं, उसका यहां बैठकर अनुमान भी नही लगाया जा सकता। राव नरबीर सिंह ने कहा कि सेना की तरह ही अर्धसैनिक बलों के जवान सीमाओं की रक्षा करते हुए अपने प्राणो का सर्वोच्च बलिदान देते हैं और यह कहा जाए कि अर्धसैनिक बलों के जवान ही असली हीरो होते हैं, तो कोई अतिश्योक्ति नही होगी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा सरकार बनने के बाद देश का हर सैनिक भारतीय होने पर गर्व महसूस करता है। उन्होंने बताया कि हालांकि सैनिक के बलिदान की भरपाई नही की जा सकती लेकिन हरियाणा में शहीदों के परिवारों को दी जाने वाली अनुग्रह राशि वर्तमान भाजपा सरकार द्वारा 20 लाख रूपये से बढ़ाकर 50 लाख रूपये की गई है जोकि देश में सर्वाधिक है।
उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बलों के सेवानिवृृत अधिकारियों से मिलने से पहले उन्हें इस बात का अंदाजा भी नही था कि इनके परिवारों विशेषकर सीमाओं की रक्षा करते हुए शहीद हुए अर्धसैनिक बलों के जवानों के परिवारों को कितनी कठिनाईयों का सामना करना पड़ता है। अर्धसैनिक बलों के सेवानिवृत अधिकारियो द्वारा रखी गई मांगों का उल्लेख करते हुए राव नरबीर सिहं ने भरोसा दिलाया कि वे जल्द ही उनके प्रतिनिधि मंडल की एक बैठक एक मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के साथ निर्धारित करवाकर उनकी समस्याओं  को हल करवाएंगे। उन्होंने आज के इस कार्यक्रम के लिए ऑल इंडिया एक्स पैरामिल्ट्रिी एसोसिएशन को दो लाख रूपये की अनुदान राशि देने की भी घोषणा की।
ऑल इंडिया एक्स पैरामिल्ट्रिी पर्सनल एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष के एस यादव सहित सभी वक्ताओं ने यही मांग रखी थी कि जिला सैनिक बोर्ड की तर्ज पर अर्धसैनिक बलों के सेवानिवृत सैनिकों तथा अधिकारियों के लिए जिला स्तर पर एक अर्धसैनिक बल कल्याण बोर्ड का कार्यालय होना चाहिए। उन्होंने सीएसडी कैंटीन की तर्ज पर उनके लिए कैं टीन खुलवाने तथा उनके परिवारों के सदस्यों के ईलाज के लिए सीजीएचएस की सुविधा मुहैया करवाने की मांग रखी है। साथ ही यादव ने बताया कि इन मांगो को लेकर पिछले दिनों गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात की गई थी जिसमें उन्होंने इनकी मांगो को जायज मानते हुए प्रयोग के तौर पर देश में इनके लिए 10 कैंटीन खोलने के आदेश दिए हैं। उन्होंने बताया कि राजनाथ सिंह द्वारा उनकी 3 मांगो को तत्काल स्वीकार कर लिया गया है। यादव ने ये भी बताया कि अर्धसैनिक बलों के लिए एक कैंटीन 1 फरवरी में झज्जर में खोली जाएगी।
इससे पहले ऑल इंडिया एक्स पैरामिल्ट्रिी पर्सनल एसोसिएशन हरियाणा के अध्यक्ष एस सी फौगाट ने मंत्री का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि अर्धसैनिक जिला बोर्ड तथा रैस्ट हाऊस खोलने संबंधी फाइल मुख्यमंत्री के पास लंबित है। उन्होंने राव नरबीर सिंह से आग्रह किया कि मुख्यमंत्री से मिलने का समय दिलवाएं। उन्होंने बताया कि हरियाणा की इस एसोसिएशन में 16 हजाऱ सदस्य हैं।
इस मौके पर ऑल इंडिया एक्स पैरामिल्ट्रिी पर्सनल एसोसिएशन उत्तर प्रदेश वीपीएस सोलंकी ने अपने विचार रखते हुए कहा कि गुरुग्राम में आज अच्छी शुरूआत हुई है जिससे दूसरे जिले भी प्रेरणा ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार बनने के बाद जागृति आई है और यह आभास होता है कि देश अभी साढे तीन वर्ष पहले ही आजाद हुआ है, 1947 में तो केवल कागजों में आजाद हुए हैं। उन्होंने माना कि वर्तमान भाजपा सरकार अर्धसैनिक बलों के कल्याण की चिंता कर रही हैं। राजस्थान से आए वहां की ऑल इंडिया एक्स पैरामिल्ट्रिी पर्सनल एसोसिएशन के अध्यक्ष एस एस राघव ने विस्तार से बताया कि सेवानिवृति के बाद उनके बल के जवानों के सामने तथा शहीदों की विधवाओं को सुविधाएं प्राप्त करने में कितनी दिक्कते आती हैं। उन्होंने कहा कि अर्धसैनिक बल, जिसमें सीआरपीएफ, बीएसएफ, आईटीबीपी , सीआईएसएफ तथा एसएसबी आते हैं, सभी के सैनिकों की संख्या मिलाकर भारतीय सेना के सैनिको के बराबर है और इतने परिवारों की देखभाल सुनियोजित तरीके से होनी चाहिए। कार्यक्रम के अंत में एल आर यादव ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस अवसर पर अर्धसैनिक बल के सेवानिवृत अधिकारी के एस यादव, एम एस राघव, तेजवीर सिंह, एम एस चौहान, एल आर यादव, डीपीएस सोलंकी, वर्तमान में कार्यरत डीआईजी आरएन यादव, निगम पार्षद कुलदीप यादव, जिला भाजपा सचिव राकेश यादव सहित अर्धसैनिक बलों के सदस्य मौजूद थे।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here