मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि देश के विकास एवं समाज में परिवर्तन लाने में युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका है। इतिहास गवाह है कि भारत को आगे बढ़ाने में हमेशा देश के युवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। युवाओं ने अलग-अलग क्षेत्रों मे अपनी प्रतिभा के माध्यम से देश का नाम पूरे विश्व में रोशन किया है। आज भारत पूरे विश्व में युवाओं का देश बन चुका है क्योंकि यहां पर सबसे अधिक युवा वर्ग है। मुख्यमंत्री गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय के इण्डोर स्टेडियम में नेहरू युवा केन्द्र भारत सरकार के द्वारा आयोजित 22 वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव के शुभारम्भ अवसर पर अपने उद्गार व्यक्त कर रहे थे।
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा लाइव टेलीकास्ट के माध्यम से पूरे देश से आये युवाओं का उत्साह बढ़ाते हुए उन्हें ‘संकल्प से सिद्धि’ का मंत्र दिया गया। उन्होंने नौजवानों का आह्वान किया कि सभी युवा अपने-अपने क्षेत्र में दृढ़ता से कार्य करते हुये देश के विकास को आगे बढ़ाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएं। अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में देश का युवा निरन्तर रूप से आगे बढ़ रहा है। आज उन्ही की प्रेरणा से स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती के अवसर पर गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में 22वां राष्ट्रीय युवा महोत्सव भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित किया जा रहा है। यह अपने आपमें बहुत ही गौरव का विषय है। इस महत्वपूर्ण महोत्सव में पूरे भारत के प्रत्येक राज्य से युवा वर्ग द्वारा प्रतिभाग किया गया है। उन्होंने प्रतिभाग करने वाले समस्त युवा वर्ग का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया और कहा कि आज उन्हीं की प्रेरणा से प्रदेश में 22वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव की शुरुआत हुई है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द की जयन्ती के अवसर पर यह महोत्सव मनाया जा रहा है। स्वामी विवेकानन्द ने युवा अवस्था में देश की वैदिक परम्परा को वैज्ञानिक रूप में पूरे विश्व में प्रख्यापित किया। भाग लेने वाले समस्त युवा उनसे प्रेरणा लेकर संकल्प लेते हुये अपने मिशन में आगे बढे़ंगे तो निरन्तर रूप से उन्हें सफलता प्राप्त होगी। इससे स्वयं उनके विकास के साथ-साथ प्रदेश एवं देश का विकास भी संभव होगा।
मुख्यमंत्री ने युवा महोत्सव में युवतियांे की बराबर संख्या देखकर कहा कि यह कार्यक्रम संकल्प से सिद्धि की ओर प्रेरित कर रहा है। इस आयोजन में युवतियों द्वारा जिस स्तर पर प्रतिभाग किया जा रहा हैै, उससे पूरा देश महिला सशक्तिकरण की दिशा में आगे बढ़ेेगा। उन्होंने कहा कि दक्षिण से आये युवा वर्ग के प्रतिनिधि भीषण ठंड के बावजूद कार्यक्रम में उत्साहित दिख रहे हैं। इससे स्पष्ट दिखायी दे रहा है कि युवा देश की ऊर्जा का प्रतीक है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत दुनिया का सबसे युवा राष्ट्र है और यहां के युवाओं ने अपनी प्रतिभा एवं अपनी ऊर्जा से देश का नाम विश्व में प्रत्येक क्षेत्र में रोशन कर आदर्श प्रस्तुत किया है। उन्होंने युवाओं का उत्साह बढ़ाते हुए कहा कि जब यह ऊर्जा जीवन का मंत्र बनेगी तो युवाआंे को आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलेेगी और आदरणीय प्रधानमंत्री का सपना ‘संकल्प से सिद्धि’ की ओर सार्थक होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि देश का इतिहास गवाह है कि देश में युवा वर्ग ने इस देश की संस्कृति को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। आदि शंकराचार्य द्वारा पूरे विश्व में सदाचार का प्रचार किया गया। स्वामी विवेकानन्द ने देश व दुनिया के सामने भारत की वैदिक संस्कृति की वैज्ञानिक व्याख्या के साथ पूरी दुनिया में अपना नाम रोशन किया। इसलिए गुरुदेव रवीन्द्रनाथ टैगोर ने कहा था कि भारत को जानना है तो स्वामी विवेकानन्द को जानना होगा। आज के युवाओं को उनके चरित्र पर गहनता से मनन करते हुये तथा संकल्पित होते हुये अपने कार्य को आगे बढ़ाना होगा। फिर निश्चित रूप से उनके विकास के साथ-साथ देश का विकास भी संभव होगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में आयोजित 22वें राष्ट्रीय युवा महोत्सव के माध्यम से एक अवसर प्राप्त हुआ है, जिससे सभी प्रतिभागी युवा एक-दूसरे के प्रदेश की संस्कृति एवं प्रतिभा को जानेंगे। उन्होंने कहा कि यह महोत्सव आगामी 16 जनवरी तक आयोजित होगा। यह अपने आपमें अनूठा महोत्सव है, जिसमें युवक एवं युवतियां बराबर रूप में प्रतिभाग कर रही हैं। आयोजित होने वाले युवा महोत्सव में युवा संसद एवं अलग-अलग प्रदेशांे के सांस्कृतिक कार्यक्रम तथा अन्य आयोजन किये जायंेगेे, जिससें प्रत्येक युवा को एक नयी दिशा प्राप्त होगी।
नेहरू युवा केन्द्र, भारत सरकार के महानिदेशक दिलावर सिंह द्वारा राष्ट्रीय युवा महोत्सव की रूपरेखा के संबंध में विस्तृत रूप से जानकारी उपलब्ध करायी गयी।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री के द्वारा 23 प्रतिभावान युवक एवं युवतियांे तथा 7 शैक्षिक संस्थाओं को सम्मानित भी किया गया, जिसमें ए. उमा शंकर कुमार, अंकित कवात्रा, आरुशि मित्तल, आशीष शर्मा, बुलुशु सूर्या वेकंट दुर्गाराज शेखर, दीक्षा हेमन्त डिंडे, गौरव दीप सिंह, हर्षित गुप्ता, जव्वाद खिजार पटेल, जया सागर, क्षेत्रिमयुम प्रेमदास सिंह, कुनाल सराफ, महेन्द्र सिंह दिलीप सिंह सोलंकी, मलाइका वाज, मंटू कुमार, माशा नजीम, नागा श्रवण किलारू, पी. नवीन कुमार, प्रतीक बचानी, रूपम शर्मा, सात्विक मिश्रा, शिवम सेतिया, डाॅ. विजिता विजय नायर सम्मलित हैं।
इसी प्रकार जिन 7 संस्थाओं को मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया गया, उसमें शोई फाउंडेशन, क्लाॅथ बाॅक्स फाउंडेशन, इम्पीरियल सोसाइटी आॅफ इनोवेटिव इंजीनियर्स, जागृति, करुणालयम रूरल वेलफेयर सोसाइटी, मददगार परिवार एवं युवा शैक्षिक संस्था शामिल हैं। सभी व्यक्ति एवं संस्थाओं के द्वारा अपने-अपने क्षेत्र में अनूठे प्रयास करते हुये विशेष कार्य किये गये हैं, जिनके लिए उन्हें सम्मानित किया गया।
कार्यक्रम शुभारम्भ से पूर्व, मुख्यमंत्री द्वारा इण्डोर स्टेडियम में चारों-ओर भ्रमण करते हुये समस्त राज्यों से आये युवा वर्ग का अभिवादन एवं उनका स्वागत किया गया। इस समय युवा वर्ग द्वारा लगाये गये योगी-योगी के नारों से इण्डोर स्टेडियम गूंज उठा।
कार्यक्रम में भारत सरकार के राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) युवा कार्य एवं खेल मंत्रालय कर्नल राज्यवर्धन सिंह राठौड़, राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) संस्कृति मंत्रालय डाॅ. महेश शर्मा, जनप्रतिनिधिगण, भारत सरकार के सचिव एके दुबे सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here