गुरुग्राम में सडक़ों पर सुरक्षा की दृष्टि से सीसीटीवी कैमरे लगाने की समीक्षा के दौरान जीएमडीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी वी उमा शंकर ने बताया कि पायलेट प्रोजैक्ट के तहत गुरुग्राम शहर में सदर बाजार और झाड़सा एरिया में 61 कैमरे लगाए गए थे जिनके अच्छे परिणाम आए हैं। उन्होंने बताया कि अब शहर में पुलिस के सहयोग से विभिन्न स्थानों पर लगभग 5,000 सीसीटीवी कैमरे लगाने की योजना है ताकि यातायात नियमों के पालन तथा दुर्घटनाओं आदि पर कैमरे की मदद से नजर रखी जा सके।
अगले वित वर्ष में जीएमडीए के दायरे में होगा गुरुग्राम का मास्टर इंफ्रास्ट्रक्चर
वर्ष 2018-19 में जीएमडीए की कार्यप्रणाली के बारे में पूछे जाने पर जीएमडीए के मुख्य कार्यकारी अधिकारी  वी उमा शंकर ने बताया कि शहर में सभी मास्टर इंफ्रास्ट्रक्चर जैसे एसटीपी, रोड़ नेटवर्क आदि जीएमडीए के अंतर्गत आ जाएंगे। उन्होंने बताया कि हुडा के काफी सैक्टर नगर निगम को हस्तांतरित किए जा चुके हैं तथा चार और सैक्टर जल्द ही हस्तांतरित कर दिए जाएंगे। हुडा के पास केवल सैक्टर-29 और 53 बचेंगे। साथ ही उमा शंकर ने बताया कि जिन परियोजनाओं पर हुडा विभाग द्वारा कार्य शुरू कर दिया गया है, उन परियोजनाओं को हुडा विभाग ही पूरा करेगा और उसके बाद नगर निगम को हस्तांतरित करेगा।
Sandeep Siddhartha, Senior Reporter

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here